Breaking :
||झारखंड में पांचवें चरण का चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न, आचार संहिता उल्लंघन के सात मामले दर्ज||लातेहार में शांतिपूर्ण माहौल में मतदान संपन्न, 65.24 फीसदी वोटिंग||झारखंड में गर्मी से मिलेगी राहत, गरज के साथ बारिश के आसार, येलो अलर्ट जारी||चतरा, हजारीबाग और कोडरमा संसदीय क्षेत्र में मतदान कल, 58,34,618 मतदाता करेंगे 54 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला||चतरा लोकसभा: भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर, फैसला जनता के हाथ||भाजपा की मोटरसाइकिल रैली पर पथराव, कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट, कई घायल||झारखंड की तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार थमा, 20 मई को वोटिंग||पिता के हत्यारे बेटे की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त बंदूक बरामद समेत पलामू की तीन ख़बरें||चतरा लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित इलाके में नौ बूथों का स्थान बदला, जानिये||झारखंड हाई कोर्ट में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश
Tuesday, May 21, 2024
खेल

धोनी ने आखिरी ओवर में छीन ली मुंबई इंडियंस से जीत, जडेजा ने माही के छुए पैर

मुंबई के खिलाफ मैच में सीएसके के पूर्व कप्तान एमएस धौनी ने एक बार फिर से साबित किया कि क्यों उन्हें वर्ल्ड का सबसे बेस्ट फिनिशर माना जाता है। उनकी विस्फोटक बल्लेबाजी के सामने मुंबई की एक न चली और लगाातार उसे 7वें मैच में हार का सामना करना पड़ा। इस हार के साथ ही मुंबई ऐसी पहली टीम बन गई है जो शुरुआत के 7 मैच हारी हो।

पहले बल्लेबाजी करते हुए मुंबई ने खराब शुरुआत के बाद तिलक वर्मा के अर्धशतकीय पारी की बदौलत 155 रन बनाए थे। लक्ष्य का पीछा करते हुए चेन्नई की टीम को आखिरी ओवर में 17 रन चाहिए थे और धौनी ने अपने स्टाइल मैं मैच फिनिश कर चेन्नई को सीजन की दूसरी जीत दिला दी। धौनी ने जयदेव उनादकट के आखिरी ओवर में दो छक्के और एक चौके और 2 रन के साथ 4 गेंदों पर 16 रन बनाए।

मैच खत्म होने के बाद जब धौनी मैदान से बाहर जा रहे थे तो फैंस को एक शानदार नजारा देखने को मिला। टीम के कप्तान रवींद्र जडेजा ने धौनी के पैर छुए।

धौनी ने इस मैच में 13 गेंदों पर 28 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली। ये चेन्नई की सीजन में दूसरी जीत है। इस हार के बाद इस सीजन में मुंबई के प्लेआफ में पहुंचने की संभावना खत्म हो गई है। धौनी ने इस सीजन के पहले मैच में अर्धशतकीय पारी खेल सबको अपने फार्म में आने की दस्तक दे दी थी। इस मैच में उनकी दमदार पारी से टीम के कप्तान खुद को नहीं रोक पाए और उनके पैर छुते हुए नजर आए।

इसे भी पढ़ें :- मंत्री मिथिलेश ठाकुर पर कार्रवाई के निर्देश, जानिए वजह

मैच के बाद टीम के कप्तान रवींद्र जडेजा ने कहा कि “मैच के दौरान उन्हें डर लगा था लेकिन इस मैच का बेस्ट फिनिशर मैदान पर मौजूद था इसलिए मैं जानता था कि जीत का मौका है। यदि आप मैच नहीं जीतते हैं तो शांत रहना जरूरी है हमें अपने फील्डिंग पर काम करना जरूरी है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें