Breaking :
||हजारीबाग सांसद जयंत सिन्हा ने राजनीति से लिया संन्यास, भाजपा अध्यक्ष को लिखा पत्र, जानिये वजह||दुमका में स्पेनिश महिला पर्यटक से गैंग रेप, तीन आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: बारियातू में बाइक पर अवैध कोयला ले जा रहे नौ लोग गिरफ्तार, जेल||लातेहार: अपराध की योजना बनाते दो युवक हथियार के साथ गिरफ्तार||पलामू: पेड़ से टकराकर पुल से नीचे गिरी बाइक, दो नाबालिग छात्रों की मौत, दो की हालत नाजुक||लोकसभा चुनाव: भाजपा ने की झारखंड से 11 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा, चतरा समेत इन तीन सीटों पर सस्पेंस बरकरार||लोससभा चुनाव: भाजपा की 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, देखें पूरी लिस्ट||सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों का हंगामा||झारखंड विधानसभा: बजट सत्र के अंतिम दिन कई विधेयक पारित||धनबाद: अस्पताल में लगी आग, मची अफरा-तफरी, मरीज और परिजन जान बचाकर भागे
Sunday, March 3, 2024
धार्मिक

अक्षय तृतीया पर पहली बार ग्रहों का महासंयोग, जानें पूजन व खरीदारी का सबसे उत्तम मुहूर्त

Akshaya Tritiya 2022

हिंदू पंचांग के अनुसार, वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को अक्षय तृतीया का पावन पर्व मनाया जाता है। अक्षय तृतीया को आखा तीज के नाम से भी जानते हैं। इस दिन अबूझ मुहूर्त होने के कारण शुभ व मांगलिक कार्य किए जाते हैं। इस साल अक्षय तृतीया 3 मई, मंगलवार को है। धार्मिक मान्यता के अनुसार, यह दिन मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए सबसे शुभ होता है। इस साल अक्षय तृतीया पर रोहिणी नक्षत्र का शुभ संयोग बन रहा है। इस बार पांच ग्रहों के साथ पांच महायोग की शुभ स्थिति बन रही है। इसमें केदार, शुभ कर्तकी, उभयचरी, विमल और सुमुख शामिल हैं। तिथि व नक्षत्रों के शुभ संयोग 24 घंटे होने के कारण खरीदारी व निवेश का समय पूरे दिन रहेगा।

अक्षय तृतीया पर ग्रहों का महासंयोग-

इस साल अक्षय तृतीया पर बनने वाले ग्रहों का दुर्लभ संयोग आने वाले सौ सालों तक नहीं बनेगा। इस बार अक्षय तृतीया पर सूर्य, चंद्रमा, शुक्र उच्च राशि व गुरु, शनि अपनी स्वराशि कुंभ में रहेंगे। इसके अलावा शोभन व मातंग नाम के दो शुभ योगों का भी निर्माण हो रहा है। ग्रहों की स्थिति के कारण अक्षय तृतीया पर पहली ऐसा संयोग बन रहा है।

इसे भी पढ़ें :- झारखण्ड : इलेक्ट्रिक स्कूटी में हुआ विस्फोट, बाल-बाल बचे दो युवक

सोना खरीदना लाभकारी-

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, अक्षय तृतीया पर किए गए काम का अक्षय फल मिलता है। मान्यता है कि इस दिन जो धातु खरीदी जाती है, वह खत्म नहीं होती है, बढ़ती है। शास्त्रों के अनुसार, इस दिन सोना खरीदना शुभ फलदायी होता है। कहते हैं कि सोना खरीदने से सुख-समृद्धि के साथ परिवार की खुशहाली रहती है।

इसे भी पढ़ें :- LATEHAR BREAKING: बड़ा रेल हादसा टला, पहाड़ के टुकड़े पटरी पर गिरे

अक्षय तृतीया पर बन रहे राजयोग-

अक्षय तृतीया के दिन मालव्य राजयोग, हंस राजयोग और शश राजयोग बन रहे हैं। मान्यता है कि इन राजयोग में किए गए कार्यों में सफलता हासिल होती है। अक्षय तृतीया के दिन पूजा का शुभ मुहूर्त सुबह 05 बजकर 39 मिनट से दोपहर 12 बजकर 18 मिनट तक रहेगा। सोना-चांदी खरीदने का शुभ मुहूर्त सुबह 05 बजकर 39 मिनट से अगले दिन सुबह 05 बजकर 38 मिनट तक रहेगा। 

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

Akshaya Tritiya 2022