Breaking :
||हजारीबाग सांसद जयंत सिन्हा ने राजनीति से लिया संन्यास, भाजपा अध्यक्ष को लिखा पत्र, जानिये वजह||दुमका में स्पेनिश महिला पर्यटक से गैंग रेप, तीन आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: बारियातू में बाइक पर अवैध कोयला ले जा रहे नौ लोग गिरफ्तार, जेल||लातेहार: अपराध की योजना बनाते दो युवक हथियार के साथ गिरफ्तार||पलामू: पेड़ से टकराकर पुल से नीचे गिरी बाइक, दो नाबालिग छात्रों की मौत, दो की हालत नाजुक||लोकसभा चुनाव: भाजपा ने की झारखंड से 11 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा, चतरा समेत इन तीन सीटों पर सस्पेंस बरकरार||लोससभा चुनाव: भाजपा की 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, देखें पूरी लिस्ट||सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों का हंगामा||झारखंड विधानसभा: बजट सत्र के अंतिम दिन कई विधेयक पारित||धनबाद: अस्पताल में लगी आग, मची अफरा-तफरी, मरीज और परिजन जान बचाकर भागे
Sunday, March 3, 2024
झारखंडधार्मिक

जानिये कब से शुरू हो रहा है सावन का महीना व सोमवारी से जुड़ी पूरी डिटेल

सावन का महीना भगवान शिव का महीना होता है। इस साल सावन का महीना जुलाई से शुरू होकर 12 अगस्त तक रहेगा। जानें सावन 2022 का पवित्र महीना कब शुरू हो रहा है और इस महीने में कितने सोमवार व्रत पड़ रहे हैं। पूरी डिटेल पढ़ें।

सावन का माह या सावन का महीना हिंदू धर्म में अत्यंत विशेष महत्व रखता है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि इस पूरे महीने में हर दिन भगवान शिव की पूजा की जाती है। ऐसा माना जाता है कि सावन का महीना शिव का महीना होता है। इस साल सावन का महीना जुलाई से शुरू होकर 12 अगस्त तक रहेगा। सावन माह का पहला दिन – 14 जुलाई 2022, दिन गुरुवार

सावन सोमवारी और पूर्णिमा दिन और तारीख

सावन सोमवार व्रत – 18 जुलाई 2022, सोमवार

सावन सोमवार व्रत – 25 जुलाई 2022, सोमवार

सावन सोमवार व्रत – 01 अगस्त 2022 सोमवार

सावन सोमवार व्रत – 08 अगस्त 2022, सोमवार

सावन मास का अंतिम दिन – 12 अगस्त 2022, शुक्रवार

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

हिंदी कैलेंडर में पांचवें स्थान पर आता है। मान्यताओं के अनुसार सावन का महीना भगवान भोलेनाथ की पूजा के लिए बेहद खास होता है। ऐसा माना जाता है कि जो व्यक्ति सावन के प्रत्येक सोमवार को व्रत रखकर भगवान शिव की पूजा करता है, उसकी हर मनोकामना पूरी होती हैं।

रक्षा बन्धन 2022

रक्षा बन्धन भद्रा अन्त समय – 08:51 पी एम

रक्षा बन्धन भद्रा पूंछ – 05:17 पी एम से 06:18 पी एम

रक्षा बन्धन भद्रा मुख – 06:18 पी एम से 08:00 पी एम

पूर्णिमा तिथि प्रारम्भ – अगस्त 11, 2022 को 10:38 ए एम बजे

पूर्णिमा तिथि समाप्त – अगस्त 12, 2022 को 07:05 ए एम बजे

रक्षा बन्धन के लिये प्रदोष काल का मुहूर्त – 08:51 पी एम से 09:13 पी एम