Breaking :
||हेमंत सरकार का निर्णय, सरकारी कार्यक्रमों में ‘जोहार’ शब्द से अभिवादन करना अनिवार्य||सरकार खतियान आधारित स्थानीयता बिल फिर राज्यपाल को भेजेगी : JMM||राज्य स्तरीय झांकी में पलामू किला को मिला पहला स्थान, राज्यपाल ने किया पुरस्कृत||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली

जानिये कब से शुरू हो रहा है सावन का महीना व सोमवारी से जुड़ी पूरी डिटेल

सावन का महीना भगवान शिव का महीना होता है। इस साल सावन का महीना जुलाई से शुरू होकर 12 अगस्त तक रहेगा। जानें सावन 2022 का पवित्र महीना कब शुरू हो रहा है और इस महीने में कितने सोमवार व्रत पड़ रहे हैं। पूरी डिटेल पढ़ें।

सावन का माह या सावन का महीना हिंदू धर्म में अत्यंत विशेष महत्व रखता है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि इस पूरे महीने में हर दिन भगवान शिव की पूजा की जाती है। ऐसा माना जाता है कि सावन का महीना शिव का महीना होता है। इस साल सावन का महीना जुलाई से शुरू होकर 12 अगस्त तक रहेगा। सावन माह का पहला दिन – 14 जुलाई 2022, दिन गुरुवार

सावन सोमवारी और पूर्णिमा दिन और तारीख

सावन सोमवार व्रत – 18 जुलाई 2022, सोमवार

सावन सोमवार व्रत – 25 जुलाई 2022, सोमवार

सावन सोमवार व्रत – 01 अगस्त 2022 सोमवार

सावन सोमवार व्रत – 08 अगस्त 2022, सोमवार

सावन मास का अंतिम दिन – 12 अगस्त 2022, शुक्रवार

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

हिंदी कैलेंडर में पांचवें स्थान पर आता है। मान्यताओं के अनुसार सावन का महीना भगवान भोलेनाथ की पूजा के लिए बेहद खास होता है। ऐसा माना जाता है कि जो व्यक्ति सावन के प्रत्येक सोमवार को व्रत रखकर भगवान शिव की पूजा करता है, उसकी हर मनोकामना पूरी होती हैं।

रक्षा बन्धन 2022

रक्षा बन्धन भद्रा अन्त समय – 08:51 पी एम

रक्षा बन्धन भद्रा पूंछ – 05:17 पी एम से 06:18 पी एम

रक्षा बन्धन भद्रा मुख – 06:18 पी एम से 08:00 पी एम

पूर्णिमा तिथि प्रारम्भ – अगस्त 11, 2022 को 10:38 ए एम बजे

पूर्णिमा तिथि समाप्त – अगस्त 12, 2022 को 07:05 ए एम बजे

रक्षा बन्धन के लिये प्रदोष काल का मुहूर्त – 08:51 पी एम से 09:13 पी एम