Breaking :
||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत
Monday, April 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

मांडर विधानसभा उपचुनाव शांतिपूर्ण संपन्न, 60 फीसदी मतदान

रांची का मांडर विधानसभा उपचुनाव छिटपुट घटनाओं को छोड़ कर सभी जगहों पर शांतिपूर्ण तरीके से मतदान संपन्न हुआ. कहीं से किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है. गुरुवार की सुबह सात बजे से शुरू हुई वोटिंग शाम चार बजे खत्म हुई. इस उपचुनाव में शाम चार बजे तक 60.05 फीसदी वोटिंग की खबर है. देर शाम तक वोटिंग परसेंटेज में कुछ बदलाव आ सकता है. इस संबंध में डीसी छवि रंजन ने मतदाता समेत सभी मतदान कर्मी और सुरक्षा कर्मियों को बधाई दी है.

14 प्रत्याशियों की किस्मत EVM में हुई बंद चुनाव खत्म होने के साथ ही करीब साढ़े तीन लाख वोटर्स 14 प्रत्याशियों की किस्मत EVM में बंद कर दी है. अब 26 जून को मतगणना के दिन EVM खुलेगा. EVM को रांची के पंडरा बाजार समिति में तैयार किये गये स्टांग रूम में पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था के बीच कमरा में रखकर उसे सील किया गया है. बता दें कि मांडर विधानसभा उपचुनाव के लिए कुल मतदाताओं की संख्या 3,49,218 है. इसमें 1,76,526 पुरुष और 1,72,686 महिला मतदाता और छह थर्ड जेंडर मतदाता हैं.

पिछले चुनाव की तुलना में करीब सात फीसदी वोटिंग हुई कम

मांडर विधानसभा के उपचुनाव में अब तक 60.65 फीसदी मतदान हुई है. वर्ष 2019 में हुए चुनाव की तुलना में यह करीब सात फीसदी कम है. 2019 के विधानसभा चुनाव में 67.52 फीसदी वोटिंग हुई थी. वहीं वर्ष 2014 के चुनाव में 66.17 फीसदी वोटिंग हुई थी. पिछले दो विधानसभा चुनाव की तुलना में इस उपचुनाव में वोटिंग कम हुई है.

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

67 फीसदी दिव्यांग मतदाताओं ने किया वोटिंग

इस संबंध में डीसी छवि रंजन ने पत्रकारों से बात करते हुए शांतिपूर्ण उपचुनाव के लिए सभी को बधाई दी है. साथ ही कहा कि इस उपचुनाव में 3,035 दिव्यांग मतदाता और 80 वर्ष से अधिक उम्र के 2,845 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग मतदान केंद्र पर तथा 747 ने डाकपत्र के माध्यम से किया. अगर प्रतिशत की बात करें, तो 67.72 फीसदी दिव्यांग मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. वहीं, 80 वर्ष से अधिक उम्र के 39.83 फीसदी वृद्ध मतदाताओं ने वोटिंग की है.

239 बूथों की हुई वेबकास्टिंग

मांडर विधानसभा के सभी 239 बूथों की वेबकास्टिंग की गयी. वहीं, जिला मुख्यालय में बने कंट्रोल रूप में EVM की सेफ ट्रांसपोर्टिंग के लिए GPS ट्रैकिंग, SMS मॉनिटरिंग आदि का डीसी ने जायजा लिया. बता दें कि मांडर विधानसभा चुनाव में कुल 433 मतदान केंद्र बनाए गए थे. इसमें 145 अतिसंवेदनशील, 166 संवेदनशील और 72 सामान्य मतदान केंद्र था.

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इन प्रत्याशियों की किस्मत हुई EVM में कैद

भारतीय जनता पार्टी : गंगोत्री कुजूर
इंडियन नेशनल कांग्रेस : शिल्पी नेहा तिर्की
कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सिसिस्ट) : सुभाष मुंडा
नवोदय जनतांत्रिक पार्टी : दिनेश उरांव :
शिवसेना : रेखा कुमारी :
कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सिसिस्ट- लेनिनिस्ट) रेड स्टार : शिवचरण लोहरा

पलामू प्रमंडल की ताज़ा ख़बरें यहाँ पढ़ें

आठ निर्दलीय प्रत्याशी

देवकुमार धान, अगनी तिर्की, अशोक उरांव, आनंद पॉल तिर्की, जोहन तिर्की, निरोज उरांव, मार्शल बारला, सुशील उरांव

35 माॅडल केंद्र बने

मांडर उपचुनाव में कुल 433 मतदान केंद्रों में आयोग द्वारा 35 मॉडल मतदान केंद्र बनाया गया था. इसके अतिरिक्त 38 ऐसे मतदान केंद्र चिह्नित किए गए थे जहां पर्दानशीं महिलाओं की संख्या अधिक थी, जिसके कारण इन केंद्रों पर एक महिला मतदान पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की भी गई थी.

मांडर विधानसभा उपचुनाव संपन्न