Breaking :
||भाजपा की मोटरसाइकिल रैली पर पथराव, कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट, कई घायल||झारखंड की तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार थमा, 20 मई को वोटिंग||पिता के हत्यारे बेटे की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त बंदूक बरामद समेत पलामू की तीन ख़बरें||चतरा लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित इलाके में नौ बूथों का स्थान बदला, जानिये||झारखंड हाई कोर्ट में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश||पलामू: हार्डकोर इनामी माओवादी नीतेश के दस्ते का सक्रिय सदस्य गिरफ्तार||लातेहार: 65 हेली ड्रॉपिंग बूथ के लिए शुभकामनायें लेकर मतदान कर्मी रवाना||KIDZEE लातेहार के बच्चों ने मतदाताओं से की अपील- पहले मतदान, फिर कोई काम||पलामू में शौच के लिए निकली नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म, चार आरोपी गिरफ्तार||लातेहार अनुमंडल क्षेत्र में चुनाव के मद्देनजर चार जून तक धारा 144 लागू
Sunday, May 19, 2024
पलामूपलामू प्रमंडल

युवा नेता रूद्र शुक्ला ने की IG से मुलाक़ात, पलामू जिले से CRPF 134 बटालियन को नहीं हटाने का किया अनुरोध

प्रेम पाठक/सतबरवा

कहा हटाने से उग्रवाद व आपराधिक गतिविधियों के फिर से पनपने का है खतरा

पलामू : पांकी विधानसभा के पूर्व विधायक प्रत्याशी, प्रदेश कोऑर्डिनेटर प्रोफेशनल विंग, कांग्रेस मंत्री प्रतिनिधि, वित्त सह खाद्य आपूर्ति विभाग, झारखंड सरकार, युवा नेता रुद्र शुक्ला ने पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) से मुलाकात की और एक पत्र सौंप कर सीआरपीएफ 134 बटालियन को पलामू जिले से नहीं हटाये जाने की मांग करते हुए पलामू जिले में ही छोड़ने का अनुरोध किया है।

युवा नेता रूद्र शुक्ला ने कहा कि पलामू जिला अंतर्गत जीएलए कॉलेज मुख्यालय सहित चक, मनातू, ताल, हरिहरगंज, डांगरा, कुकुकला आदि जगहों पर उग्रवादी एवं आपराधिक गतिविधियों को रोकने के लिए लंबे समय से सीआरपीएफ की 134 बटालियन तैनात है, जिसे सरकार ने हटाने का आदेश दिया है।

उन्होंने पत्र में लिखा है कि झारखंड सरकार द्वारा पलामू जिले को नक्सल मुक्त जिला घोषित किया गया है। जिस कारण सीआरपीएफ 134 बटालियन को पलामू जिले से स्थानांतरित किया जा रहा है। लेकिन यहां हर दिन नक्सली गतिविधियों से डर बना रहता है। यहां कोई केंद्रीय पुलिस बल तैनात नहीं है, इसलिए हमें नहीं लगता कि पलामू के ऐसे संवेदनशील इलाकों से सीआरपीएफ कंपनी को हटाया जाना चाहिए। अगर कंपनी को यहां से हटाया गया तो मुझे लगता है कि यहां फिर से नक्सली गतिविधियां और आपराधिक गतिविधियां होंगी। इसे विकसित होने में ज्यादा समय नहीं लगेगा। इससे आम जनता में भय का माहौल बनेगा। विकास कार्य भी बड़े पैमाने पर बाधित होंगे और आपराधिक गतिविधियां फिर से फैलने लगेंगी।

पत्र के माध्यम से उन्होंने में पलामू जिला पुलिस प्रशासन और झारखंड के मुख्यमंत्री, डीजीपी और प्रशासनिक अधिकारियों से अनुरोध किया है कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल को पलामू से नहीं हटाया जाये। पलामू की जनता अपराधमुक्त एवं भयमुक्त वातावरण में रह सके। इसके लिए पांकी विधानसभा एवं पलामू की जनता सदैव आभारी रहेगी।

Palamu Latest News Today