Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

मनिका में महिलाओं ने बीडीओ को घेरा, सेविका के चयन में धांधली का आरोप

कौशल किशोर पांडेय/मनिका

बीडीओ ने दो घंटे का मांगा मोहलत, सर्टिफिकेट जांच का दिया आश्वासन

लातेहार : मनिका प्रखंड के बरवाडीह गांव की महिलाओं ने सेविका चयन में धांधली की जांच की मांग को लेकर सोमवार को प्रखंड कार्यालय के समीप बीडीओ बीरेंद्र किंडो के सरकारी वाहन के आगे खड़ी होकर रास्ता जाम कर दिया। बीडीओ के वाहन के आगे लगभग सौ की संख्या में महिलाओं ने बीडीओ पर सेविका चयन में मनमानी का आरोप लगाकर रास्ते से हटने को तैयार नहीं थे।

सूचना मिलते ही थाना प्रभारी शुभम कुमार ने पुलिस बल को घटनास्थल भेजा। पुलिस महिलाओं को रास्ते से हटने का बार बार अनुरोध कर रही थी। लेकिन महिलाएं अपनी मांग पर अडिग थी।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मौके पर प्रमुख प्रतिमा देवी पहुंची और महिलाओं को समझाया। उन्होंने कहा कि सेविका चयन में किसी भी प्रकार की धांधली नहीं होने दी जाएगी। वहीं उन्होंने बीडीओ से त्वरित कार्रवाई की बात कही। प्रमुख ने पंसस उषा देवी को उस अभ्यर्थी को जिसका फर्जी प्रमाण पत्र बताया जा रहा था मूल प्रमाण के साथ बुलाने को कहा।

प्रमुख के समझाने के बाद महिलाओं ने बीडीओ का रास्ता इस शर्त पर छोड़ा कि आज ही अभ्यर्थी को बुलाया जाय। वहीं सभी महिलाएं बीडीओ का रास्ता छोड़कर प्रखंड कार्यालय में बैठ गई।

क्या था मामला

प्रखंड के बरवाडीह आंगनबाड़ी केंद्र के लिए आंगनबाड़ी सेविका का चयन किया जाना था। निर्धारित तिथि 10 सितंबर को प्रखंड विकास पदाधिकारी आंगनबाड़ी सेविका का चुनाव कराने बरवाडीह केंद्र पहुंचे। मौके पर ग्राम सभा में 6 अभ्यर्थियों ने सेविका पद के लिए अपना आवेदन समेत शैक्षणिक प्रमाण पत्र प्रस्तुत किया।

आवेदन प्रस्तुत करने वालों में से शांति देवी, पार्वती कुमारी, शालू देवी, प्रिया देवी, विमली देवी और रंजू देवी का नाम शामिल है। ठीक उसी वक्त एक अभ्यर्थी के स्नातक प्रमाण पत्र के फर्जी होने का मामला अन्य अभ्यर्थियों ने उठाया और उसकी मूल प्रति की मांग करने लगे। काफी हो हल्ला होने के बाद प्रखंड विकास पदाधिकारी ने सभी अभ्यर्थियों का आवेदन लिया और प्रखंड कार्यालय पहुंच गए।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

उन्होंने तमाम अभ्यर्थियों को चुनाव से संबंधित रिपोर्ट बताने की बात कही।सोमवार को भी अभ्यर्थियों को न तो जानकारी न ही मूल प्रमाण पत्र दिखाया गया। इसके बाद आक्रोशित महिलाओं ने बीडीओ का वाहन रोककर रास्ता जाम कर दिया।

क्या कहते हैं बीडीओ

बीडीओ बीरेंद्र किंडो ने कहा कि सेविका चयन में किसी भी प्रकार की धांधली नहीं होगी। नियमानुसार सेविका का चयन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिस अभ्यर्थी के शैक्षणिक प्रमाण पत्र के लिए बखेड़ा खड़ा हुआ है। उससे मूल प्रमाण पत्र मंगाई जाएगी। जांच के बाद ही निर्णय लिया जाएगा।