Breaking :
||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर

लातेहार: बरवाडीह में सड़क की समस्या से जूझ रहे ग्रामीणों ने निर्माण की मांग को लेकर किया हंगामा, प्रखंड कार्यालय को घेरा

शशि शेखर/बरवाडीह

वन विभाग द्वारा लगाई गयी रोक हटाने की मांग

लातेहार : बरवाडीह प्रखंड के वन क्षेत्र अंतर्गत लाभर पुलिस पिकेट से लेकर लात औऱ लाभर पुलिस पिकेट से लेकर चुगरु, कोरवामड़ई समेत वन क्षेत्र अंतर्गत आने वाले महत्वपूर्ण सड़कों के निर्माण की मांग को लेकर संयुक्त ग्राम सभा के बैनर तले जिप सदस्य कन्हाई सिंह के नेतृत्व में सैकड़ों की संख्या में लात, चुगरु व हरातू पंचायत के ग्रामीणों ने प्रखंड कार्यालय का घेराव किया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

घेराव करने के पूर्व ग्रामीणों ने सड़क निर्माण की मांग को लेकर नगर भ्रमण करते हुए जमकर नारेबाजी की बाद में प्रखंड कार्यालय का घेराव कर जमकर हंगामा किया।

मौके पर जिप सदस्य कन्हाई सिंह ने कहा कि आज केंद्र और राज्य की सरकार हर गांव को पक्की सड़क से जोड़ने का दावा कर रही है। लेकिन वर्तमान समय में स्थिति सिर्फ कागजी है, क्योंकि हमारे क्षेत्र में वन विभाग के द्वारा पंचायतों को मुख्यालय से जोड़ने वाली सभी महत्वपूर्ण सड़कों के निर्माण पर रोक लगा दिया जा रहा है।

जबकि इस रोक को हटाने को लेकर कई बार ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन किया। इसके बावजूद न तो जिले के अधिकारी और न राज्य के मुखिया के द्वारा ही कोई पहल किया गया। जिससे लोगों में खासा आक्रोश है।

अंत में प्रदर्शनकारियों ने जिले के उपायुक्त के नाम प्रखंड के प्रधान सहायक सच्चिदानंद को एक मांगपत्र सौंपा और अल्टीमेटम भी दिया।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इस दौरान मौके पर लात पंचायत की मुखिया ईश्वरी देवी, प्रखंड प्रमुख सुशीला देवी, पंचायत समिति प्रेमलता मिंज, हरातू मुखिया सावित्री देवी, ग्राम प्रधान राज कमल सिंह, पंचायत समिति तेतरी देवी समेत सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण शामिल थे।