Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Wednesday, May 22, 2024
पलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: सड़क दुर्घटना में महिला समेत दो की मौत, आधा दर्जन लोग घायल

पलामू : बुधवार को छतरपुर थाना क्षेत्र के चराई कुटिया मोड़ से पाटन जाने वाली सड़क पर केरकी मोड़ के पास एक कमांडर जीप खेत में पलट गई। इस घटना में दो लोगों की मौत हो गई। वहीं आधा दर्जन लोग घायल हो गए। मरने वालों में एक महिला और एक युवक शामिल है। बताया जाता है कि जीप सरईडीह से पाटन होते हुए मेदिनीनगर जा रही थी।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इस हादसे में नौडिहा बाजार प्रखंड के पंचायत खैरादोहर निवासी अनवर हुसैन की 35 वर्षीय पत्नी रुकसाना खातून की मौके पर ही मौत हो गयी। वह जमीन विवाद मामले की तारीख को लेकर मेदिनीनगर जा रही थी। वहीं, दूसरे मृतक की पहचान सरईडीह पंचायत के हरनी निवासी बिरजू भुइया के 40 वर्षीय पुत्र बिनेशर भुइया के रूप में हुई है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

स्थानीय लोगों ने बताया कि खराब सड़क के कारण गाड़ी धीमी गति से आगे बढ़ रही थी। अचानक नियंत्रण से बाहर हो गया और खेत में पलट गया। पलटने के साथ ही गाड़ी से चिल्लाने की आवाज आने लगी। आवाज सुनकर ग्रामीण दौड़े और जीप को सीधा किया। जीप को सीधा करने के बाद घायलों को तत्काल छतरपुर अनुमंडल अस्पताल भेजा गया। जहां अन्य घायलों का इलाज किया जा रहा है। इधर, मौत की खबर सुनते ही परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।