Breaking :
||लातेहार: दो बाइकों की टक्कर में मामा-भांजा समेत चार घायल समेत बालूमाथ की दो खबरें||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिस||झारखंड कैबिनेट की बैठक 19 जून को, लिये जायेंगे कई अहम फैसले||रजरप्पा को विश्वस्तरीय धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में किया जाये विकसित, कार्ययोजना करें तैयार : मुख्यमंत्री||झारखंड में IPS अधिकारियों का ट्रांसफर-पोस्टिंग||पलामू में प्रतिबंधित मांस का टुकड़ा फेंके जाने से तनाव, इलाका पुलिस छावनी में तब्दील||JBKSS प्रमुख जयराम महतो ने की विधानसभा चुनाव में 55 सीटों पर लड़ने की घोषणा||मुठभेड़ में पांच नक्सलियों को मार गिराने वाली टीम को DGP ने किया सम्मानित, कहा- मुख्य धारा में लौटें, अन्यथा मारे जायेंगे||झारखंड में भीषण गर्मी से मिलेगी राहत, 20 जून तक मानसून करेगा प्रवेश||पलामू: बालिका गृह में दुष्कर्म पीड़िता की बहन की मौत, मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में हुआ पोस्टमार्टम
Wednesday, June 19, 2024
पलामूपलामू प्रमंडलसतबरवा

विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस पर सतबरवा में तीन दिवसीय जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

पलामू : स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत जिला जल एवं स्वच्छता समिति के निर्देशानुसार सतबरवा प्रखंड मुख्यालय सहित विभिन्न पंचायतों में बुधवार को मासिक धर्म स्वच्छता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर मास्टर ट्रेनर प्रीति कुमारी द्वारा ग्रामीण महिलाओं व किशोरियों को मासिक धर्म के संबंध में जागरूक किया गया।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण चरण-2 के अंतर्गत महिलाओं एवं किशोरियों को सुरक्षित मासिक धर्म प्रबंधन को बढ़ावा देने के लिए प्रेरित किया गया। प्रीति कुमारी ने सच्चाई और मिथक के बीच के अंतर को समझाते हुए कहा कि मासिक धर्म एक प्राकृतिक प्रक्रिया है, स्वाभाविक है। यह शुद्ध है, यह कोई शर्म की बात नहीं है, कोई बोझ नहीं है, यह सुंदर है, ईश्वर का अच्छा उपहार है, आशीर्वाद है।

रक्तस्राव से शक्ति बढ़ती है इसलिए महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान स्वच्छता का ध्यान रखना चाहिए और सेनेटरी पैड के उपयोग और निपटान पर ध्यान देना चाहिए। इस दौरान धार्मिक कार्य करने की आजादी सहित किसी भी चीज में रोक नहीं लगानी चाहिए। उन्होंने बताया कि आज भी देश की 22 प्रतिशत महिलाएं मासिक धर्म के बारे में पूरी तरह से जागरूक नहीं हैं।

कई पड़ावों से गुजरना पड़ता है। इन्हीं में से एक है पीरियड्स जो कि एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। यह महिलाओं के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। हालांकि इस दौरान साफ-सफाई न होने के कारण कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में हर साल जागरुकता फैलाने के लिए विश्व माहवारी स्वच्छता दिवस मनाया जाता है। मौके पर दुलसुलमा पंचायत की जल सहिया ममता देवी, कुमारी दीक्षा एवं पुष्पा देवी सहित कई महिलाएं एवं किशोरियां उपस्थित थी।

Satbarwa Palamu Latest News