Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Saturday, April 20, 2024
गारूपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: मुस्लिम समुदाय के युवक ने पेश की मिसाल, लोगों के बीच बना चर्चा का विषय

गोपी कुमार सिंह/लातेहार

लातेहार : एक तरफ पलामू जिले के पांकी में शिवरात्रि के तोरण द्वार को लेकर विवाद छिड़ा है। ऐसे में महाशिवरात्रि के मौके पर लातेहार से एक बेहद सुखद और अनुकरणीय तस्वीर सामने आयी है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

दरअसल, यहां महाशिवरात्रि पूजा के लिए मुस्लिम समुदाय के एक शख्स ने न सिर्फ तैयारी की, बल्कि पूजा स्थल पर हिंदू रीति-रिवाजों से पूजा-अर्चना कर वह खुद ग्रामीणों के बीच मिसाल बन गया है।

दरअसल, लातेहार जिले के गारू प्रखंड अंतर्गत कोटाम पंचायत के साल्वे गांव के पास नगेड़ा पत्थर के पास केशरा चंडी घटवार बाबा का मंदिर बनाया जा रहा है। पहले यहां केवल पूजा स्थल हुआ करता था। लेकिन अब काफी विवाद के बाद मंदिर का निर्माण होना है।

दरअसल, विवाद की वजह वन विभाग है। वे अक्सर वन विभाग की जमीन का हवाला देकर मंदिर के निर्माण कार्य को रुकवा देते थे। लेकिन अब इसका समाधान कर लिया गया है। इस खबर की सबसे अहम कड़ी हैं तौकीर उर्फ मंटू मियां है, जो फिलहाल गारू झामुमो के प्रखंड अध्यक्ष भी हैं। उनके प्रयासों से वन विभाग द्वारा मंदिर निर्माण में लगायी जा रही बाधाओं को दूर किया गया है।

इससे भी खास बात यह है कि मंटू मियां मुस्लिम समुदाय से आते हुए भी एकता दिखाते हुए हिंदू भाइयों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। बल्कि वे अपने ही समाज की मर्यादाओं से परे जाकर मंदिर का उद्घाटन कर हिंदू रीति-रिवाजों के अनुसार पूजा-अर्चना कर मंदिर निर्माण कार्य में लगे हुए हैं।

आपको बता दें कि पिछले कई सालों से केशरा चंडी के आसपास के ग्रामीण पूजा करते आ रहे हैं। लेकिन यहां मंदिर का निर्माण नहीं हो सका। लेकिन अब मंटू मियां के प्रयास से यहां लाखो रुपये की लागत से मंदिर का निर्माण होना तय हो गया है। 18 तारीख यानी आज पहली बार महाशिवरात्रि के मौके पर यहां पूजा का आयोजन किया गया। जिसमें आसपास के सैकड़ों ग्रामीणों ने भाग लिया। महाशिवरात्रि के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में मंटू मिया स्वयं भी शामिल हुए और पूजा-अर्चना कर प्रसाद ग्रहण किया।

इधर इस संबंध में मंटू मिया ने बताया कि वह जात-पात को नहीं मानते हैं। उन्होंने कहा कि मैं राजनीतिक दल से भी जुड़ा हूं। फिर भी मैं जाति की राजनीति नहीं करता। उन्होंने कहा जुमा छोड़कर मैं हिंदू भाइयों के साथ मिलकर तैयारियों को पूरा कराने का काम किया है।

इधर मंटू मियां के काम से ग्रामीण भी काफी खुश हैं, ग्रामीण और मंदिर समिति के सभी सदस्य मंटू मियां की तारीफ करते नहीं थक रहे हैं। कुल मिलाकर जिस तरह से मंटू मियां जो कि एक मुस्लिम समुदाय से आते हैं। उन्होंने न केवल लोगों में व्याप्त भ्रम को तोड़ने का काम किया है, बल्कि वह लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गये हैं। मंटू मियां ने लोगों के बीच मिसाल कायम करने का काम किया है।

मंदिर के निर्माण कार्य मे गारू जिप सदस्य जीरा देवी,रुद मुखिया अजय टोप्पो, प्रखंड प्रमुख सीता देवी, समाजसेवी गोरख सिंह समेत अन्य लोगों का भी काफी सहयोग मिल रहा है।

Latehar Garu News today