Breaking :
||बड़ा रेल हादसा: शालीमार से चेन्नई जा रही कोरोमंडल एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त, 50 यात्रियों की मौत, 350 से अधिक घायल||पलामू: सतबरवा SBI शाखा में महिला से रुपये उड़ाने वाले संदिग्ध अपराधियों की तस्वीर आयी सामने, सहयोग की अपील||गुमला: मुठभेड़ में मारा गया 2 लाख का इनामी माओवादी एरिया कमांडर लाजिम अंसारी||लातेहार: बालूमाथ में यात्री बस डिवाइडर से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त, महिला समेत दो की मौत||JOB: लातेहार जिले में विशेष भर्ती कैंप का आयोजन, 450 पदों पर प्रशिक्षण के बाद होगी सीधी नियुक्ति||गुमला: शादी समारोह में शामिल होने आयी नाबालिग छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म||लातेहार: चंदवा में फंदे से लटका मिला नवविवाहित जोड़े का शव, एक माह पहले किया था प्रेम विवाह, दो दिन पहले प्रेमी के भाई ने भी कर ली थी ख़ुदकुशी||पलामू: पेड़ से लटका मिला नवविवाहित का शव, दो माह पहले किया था अंतर्जातीय प्रेम विवाह, लातेहार में है मायका||गुमला: सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया दो लाख का इनामी माओवादी राजेश उरांव||पलामू : सतबरवा SBI शाखा में पैसे जमा कराने आयी महिला से अपराधियों ने उड़ाए 84 हजार रुपये, घटना सीसीटीवी में कैद

लातेहार: सार्वजनिक जमीन की बंदोबस्ती रद्द करने की मांग को लेकर पिपराडीह के ग्रामीणों ने दिया धरना

रूपेश अग्रवाल/लातेहार

लातेहार : जिले के बरियातू प्रखंड के पिपराडीह पंचायत के सैकड़ों ग्रामीणों ने शुक्रवार को अनुमंडल कार्यालय लातेहार के सामने दो दिवसीय धरना दिया। जिसका नेतृत्व भाजपा नेता व लातेहार विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी संतोष कुमार पासवान ने किया।

ग्रामीणों ने प्रदर्शन करते हुए बताया कि हमारे ग्राम में सर्वे खाता 30 प्लॉट 131 रकवा 3.31 एकड़ जमीन एवं प्लॉट संख्या 293 रकवा 0.31 एकड़ जमीन जिसपर गांव के द्वारा सार्वजनिक रूप से गमहेल पूजा व वट सावित्री पूजा कार्यक्रम ग्रामीणों द्वारा संपादित किया जाता है। जिसे अवैध रूप से गांव के ही चंद्रदेव यादव पिता लालदीप यादव एवं उसके भाई अशोक यादव के द्वारा बंदोबस्त करा लिया गया है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

वहीं कर्मचारी की मिलीभगत 31 डिसमिल की उस जमीन का ऑनलाइन रसीद भी कट चुका है। जबकि लातेहार जिले में बंदोबस्त जमीन का ऑनलाइन रसीद अभी तक नहीं कटी है। जिसको लेकर ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। ग्रामीणों का कहना है कि इस बात की शिकायत कई बार थाना एवं अन्य पदाधिकारियों से की। लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गयी।

धरना प्रदर्शन के बाद अनुमंडल पदाधिकारी शेखर कुमार के नाम ग्रामीणों ने एक ज्ञापन सौंपा। जिसमें बंदोबस्ती को रद्द करने की मांग की गयी। वहीं ग्रामीणों ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि कार्रवाई नहीं की जाती है तो हमलोगों का धरना प्रदर्शन जारी रहेगा।

मौके पर शैलेन्द्र यादव, लखन यादव, प्रकाश यादव, सुदामा यादव, बिसम्भर यादव, बैजनाथ यादव, निर्मल यादव, सहदेव यादव, गंगा यादव, दिनेश यादव समेत सैकड़ों ग्रामीण मौजूद थे।