Breaking :
||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी||चाईबासा: PLFI के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, AK-47 समेत अन्य हथियार बरामद||लातेहार में PLFI के दो उग्रवादी हथियार के साथ गिरफ्तार, ठेकेदारों को फोन पर देते थे धमकी||पलामू: JJMP के सब जोनल कमांडर ने किया सरेंडर, खोले कई चौंकाने वाले राज||लातेहार: अनियंत्रित बोलेरो ने खड़े ट्रक में मारी टक्कर, दो युवकों की मौत, चार की हालत नाजुक||हेमंत सरकार का निर्णय, सरकारी कार्यक्रमों में ‘जोहार’ शब्द से अभिवादन करना अनिवार्य||सरकार खतियान आधारित स्थानीयता बिल फिर राज्यपाल को भेजेगी : JMM||राज्य स्तरीय झांकी में पलामू किला को मिला पहला स्थान, राज्यपाल ने किया पुरस्कृत

गढ़वा: चाची के प्यार में पागल युवक की परेशान पत्नी ने जहर खाकर दे दी जान, मायके वालों ने किया हंगामा

गढ़वा : जिले के रंका थाना क्षेत्र के सिजो गांव निवासी अजय कुमार यादव की 22 वर्षीय पत्नी सुषमा देवी ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। घटना बुधवार देर रात की है। ससुराल वालों का कहना है कि उसने जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली। परिजनों का आरोप है कि उसकी हत्या की गई है। सुषमा देवी सेवाडीह गांव की रहने वाली थीं। 3 साल पहले अजय कुमार यादव से शादी हुई थी। 2 बच्चों की मां थी। उनके 2 साल 6 महीने के बच्चे हैं।

परिजनों के अनुसार सुषमा देवी को शादी के बाद ससुराल में प्रताड़ित किया गया था। वजह है अजय कुमार यादव के अपनी विधवा चाची से अवैध संबंध। वह ज्यादातर समय उसके साथ ही रहता है। पता चलने पर परिजनों ने अजय को कई बार समझाया। मौसी से नाता तोड़ने की सलाह दी। लेकिन अजय नहीं मानता और उसे चाची के प्यारडूबा रहा। पत्नी सुषमा देवी उसकी इस हरकत से नाखुश रहने लगी, फोन कर परिजनों को जानकारी दी, परिजनों ने बीच-बचाव किया, समझाया लेकिन अजय चाची से रिश्ता तोड़ने को तैयार नहीं था।

सुषमा देवी के मामा शिव कुमार यादव ने बताया कि 20 दिन पहले उनके घर शादी समारोह में सुषमा देवी अजय कुमार यादव पहुंचे थे। तब उन्होंने अजय को समझाने का प्रयास किया। अजय कुमार यादव ने दो टूक में कहा उसका यह निजी मामला है। लोग हस्तक्षेप नहीं करें। मामा चुप हो गए।

मृतक की बहन किरण देवी के मुताबिक बुधवार रात नौ बजे वह सुषमा से मोबाइल पर बात कर रही थी। इसी बीच अचानक उसने फोन काट दिया। तुम्हारी यादों ने ही मोबाइल पर घरवालों को बताया कि सुषमा की तबीयत खराब हो गई है। सदर को अस्पताल ले जाया जा रहा है। लेकिन जब वह अस्पताल पहुंची तो सुषमा का शव अस्पताल में पड़ा हुआ था।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बेटी की मौत के बाद घरवालों का गुस्सा फूट पड़ा। उन्हें उम्मीद नहीं थी कि उनकी बेटी के साथ ऐसा हादसा हो जाएगा। तब घरवालों ने मुंह खोला। अजय कुमार यादव की एक विधवा महिला से अनैतिक संबंध हैं और वह थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली है। अजय के रिश्ते में महिला चाची लगती है। अजय अक्सर उस महिला के साथ रहता है। यह देख सुषमा और झगड़ा करने लगी। इसके बावजूद उन्हें उम्मीद थी कि एक दिन सब ठीक हो जाएगा। सुषमा की बेहतरी के लिए वहां हर मांग पूरी करती थी।

सुषमा देवी के मायके वालों के आने के बाद बुधवार देर रात सदर अस्पताल में काफी हंगामा हुआ। सुषमा की मौत से सदमे में परिवार वालों ने अजय कुमार यादव की पिटाई कर दी। इस दौरान कई अन्य लोगों को भी पीटा गया। उनका उग्र रूप देखकर अजय कुमार यादव सदर अस्पताल से भाग गए। अजय के परिवार के अन्य सदस्य भी अस्पताल से भाग गए।

गुरुवार की सुबह गढ़वा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और सुषमा देवी के शव का पोस्टमार्टम हुआ। पोस्टमार्टम तीन सदस्य मेडिकल बोर्ड ने किया। मेडिकल बोर्ड में डॉक्टर पीयूष सिंह, डॉ आरएस सिंह और डॉ नीरज कुमार शामिल थे।