Breaking :
||लातेहार: बूढ़ा पहाड़ इलाके में नक्सलियों द्वारा छिपाये गये अत्याधुनिक हथियार व अन्य सामान बरामद||रांची हिंसा मामले में डीसी ने 11 आरोपियों पर मुकदमा चलाने की मांगी अनुमति||धनबाद आशीर्वाद टावर फायर मामले में हाई कोर्ट ने लिया स्वत: संज्ञान, सरकार से पूछा- अबतक क्या की गयी कार्रवाई||चाईबासा: IED ब्लास्ट में एक बार फिर तीन जवान घायल, एयरलिफ्ट कर लाया गया रांची||लातेहार: बालूमाथ में सड़क हादसे में घायल युवक की इलाज के दौरान मौत, 17 फरवरी को होनी थी शादी||तैयारी में जुटे छात्र ध्यान दें: झारखंड कर्मचारी चयन आयोग ने एक दर्जन प्रतियोगी परीक्षाओं के विज्ञापन किये रद्द||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन

बरवाडीह में डिग्री कॉलेज खोलने की प्रक्रिया शुरू, सीओ ने किया भूमि का निरीक्षण

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : बरवाडीह प्रखंड में डिग्री कॉलेज की स्थापना को लेकर जहां स्थानीय विधायक रामचंद्र सिंह के द्वारा झारखंड विधानसभा सत्र के दौरान बीते वर्ष इस मुद्दे को गंभीरता से रखने का काम किया गया था वहीं सरकार के माध्यम से सकारात्मक आश्वासन मिलने के बाद अब प्रखंड क्षेत्र में डिग्री कॉलेज खोलने को लेकर सरकार के माध्यम से जिला प्रशासन के द्वारा प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

प्रखंड क्षेत्र के मंगरा पंचायत अंतर्गत मुर्गीडीह में डिग्री कॉलेज खोलने जाने को लेकर अंचलाधिकारी राकेश सहाय के द्वारा प्रखंड बीस सूत्री अध्यक्ष नसीम अंसारी विधायक प्रतिनिधि प्रेम सिंह पिंटू के साथ मिलकर भूमि चयनित करने के साथ-साथ विभागीय कर्मी और अधिकारियों की मौजूदगी में सभी प्रक्रिया पूरी करने के साथ-साथ भूमि का सत्यापन करते हुए जांच रिपोर्ट को जिले के अपर समाहर्ता को भेजने का काम किया।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

डिग्री कॉलेज खोले जाने को लेकर विधायक राम चंद्र सिंह ने बताया कि प्रखंड क्षेत्र में डिग्री कॉलेज के ना होने के कारण कई दशकों से हमारे प्रखंड के छात्र छात्राओं को पलामू या फिर दूसरे शहरों में जाना पड़ता था जिसके कारण आर्थिक बोझ और गरीबी के मार के कारण कई लोग अपनी पढ़ाई अधूरी छोड़ देते थे इसे देखते हुए इस समस्या से निजात दिलाने को लेकर राज्य की सरकार भी अब गंभीर है और जल्दी पूरे प्रखंड वासियों को डिग्री कॉलेज की सौगात मिलेगी।