Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में बालश्रम के खिलाफ चलाया गया अभियान, तीन बालश्रमिकों को कराया मुक्त||लातेहार: बालूमाथ के कबाड़ी दुकान में पुलिस ने मारा छापा, 25 टन अवैध लोहा लदा ट्रक जब्त||आदर्श आचार संहिता उल्लंघन मामले में एमपी-एमएलए कोर्ट में पेश हुए मंत्री मिथिलेश ठाकुर, साक्ष्य के अभाव में हुए रिहा||पलामू: भीषण सड़क हादसे में दो सगे भाइयों की दर्दनाक मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: पूजा के लिए पांकी से नगर मंदिर जा रहा ऑटो हेरहंज में पलटा, महिला-बच्चा समेत आधा दर्जन लोग घायल, एक की हालत गंभीर||जहां कभी लगती थी माओवादियों की जन अदालत आज वहां लग रही है सरकार की अदालत||अंतरराष्ट्रीय कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर ने कहा- जो पुरुष परस्त्री के साथ घूमता है, वह नरक में जाता है||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात बीमारी से सात पशुओं की मौत, दो अन्य बीमार, मुआवजे की मांग||चीन में फैली रहस्यमयी बीमारी को देखते हुए रांची स्वास्थ्य विभाग ने शुरू की तैयारी, लोगों को दी सलाह||नेटबॉल प्रतियोगिता के विजेता खिलाड़ियों ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात
Thursday, November 30, 2023
पलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: छात्रा ने की खुदकुशी, नवजीवन अस्पताल तुंबागड़ा में इलाज के दौरान तोड़ा दम, मोबाइल फोन नहीं मिलने से थी नाराज

पलामू : परिजनों से मोबाइल की पूर्ति नहीं होने पर एक 17 वर्षीय छात्रा ने फसल में डालने वाली कीटनाशक खाकर आत्महत्या कर ली।

मृतका की पहचान गढ़वा जिले के बरडीहा थाना क्षेत्र के आदर गांव के हरिहर पाल की सोनी कुमारी के रूप में हुई है। सोनी एक सप्ताह पहले अपने घर पर कीटनाशक खा ली थी। उसका इलाज सतबरवा के नवजीवन अस्पताल तुंबागड़ा में चल रहा था। इसी क्रम में शनिवार की दोपहर उसकी मौत हो गयी।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

सूचना मिलने के बाद सतबरवा पुलिस मौके पर पहुंची और छात्र के शव को कब्जे में लेकर एमएमसीएच में पोस्टमार्टम कराया। पोस्टमार्टम के बाद परिजन दाह संस्कार के लिए शव घर ले गये। सोनी 11वीं की छात्रा थी।

परिजनों के अनुसार सोनी हरिहर पाल की तीन बेटियों में से सबसे बड़ी थी। एक सप्ताह पहले सोनी मोबाइल खरीदने की जीत की थी। पिता ने उसे वक्त बताया था कि उसके पास पैसे नहीं है। इंतजाम करने के चार-पांच दिनों के बाद मोबाइल खरीद देंगे, लेकिन सोनी मोबाइल फोन के लिए अड़ी हुई थी। पिछले शनिवार को जब परिवार के लोग खेत पर काम करने गये थे, इसी क्रम में सोनी ने फसल में डालने वाली कीटनाशक पी ली थी। उसकी स्थिति गंभीर होने पर पहले गढ़वा सदर अस्पताल में भर्ती किया गया, वहां से उसे बेहतर इलाज के लिए रेफर करने पर नवजीवन अस्पताल तुम्बागड़ा में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। एक सप्ताह तक इलाज चलने के बाद सोनी ने दम तोड़ दिया। सोनी की इस हरकत से परिवार के लोग सकते में हैं।

Palamu Latest News Today