Breaking :
||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत
Monday, April 15, 2024
पलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: छात्रा ने की खुदकुशी, नवजीवन अस्पताल तुंबागड़ा में इलाज के दौरान तोड़ा दम, मोबाइल फोन नहीं मिलने से थी नाराज

पलामू : परिजनों से मोबाइल की पूर्ति नहीं होने पर एक 17 वर्षीय छात्रा ने फसल में डालने वाली कीटनाशक खाकर आत्महत्या कर ली।

मृतका की पहचान गढ़वा जिले के बरडीहा थाना क्षेत्र के आदर गांव के हरिहर पाल की सोनी कुमारी के रूप में हुई है। सोनी एक सप्ताह पहले अपने घर पर कीटनाशक खा ली थी। उसका इलाज सतबरवा के नवजीवन अस्पताल तुंबागड़ा में चल रहा था। इसी क्रम में शनिवार की दोपहर उसकी मौत हो गयी।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

सूचना मिलने के बाद सतबरवा पुलिस मौके पर पहुंची और छात्र के शव को कब्जे में लेकर एमएमसीएच में पोस्टमार्टम कराया। पोस्टमार्टम के बाद परिजन दाह संस्कार के लिए शव घर ले गये। सोनी 11वीं की छात्रा थी।

परिजनों के अनुसार सोनी हरिहर पाल की तीन बेटियों में से सबसे बड़ी थी। एक सप्ताह पहले सोनी मोबाइल खरीदने की जीत की थी। पिता ने उसे वक्त बताया था कि उसके पास पैसे नहीं है। इंतजाम करने के चार-पांच दिनों के बाद मोबाइल खरीद देंगे, लेकिन सोनी मोबाइल फोन के लिए अड़ी हुई थी। पिछले शनिवार को जब परिवार के लोग खेत पर काम करने गये थे, इसी क्रम में सोनी ने फसल में डालने वाली कीटनाशक पी ली थी। उसकी स्थिति गंभीर होने पर पहले गढ़वा सदर अस्पताल में भर्ती किया गया, वहां से उसे बेहतर इलाज के लिए रेफर करने पर नवजीवन अस्पताल तुम्बागड़ा में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। एक सप्ताह तक इलाज चलने के बाद सोनी ने दम तोड़ दिया। सोनी की इस हरकत से परिवार के लोग सकते में हैं।

Palamu Latest News Today