Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Saturday, April 20, 2024
पलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: सतबरवा के शिक्षक अभिषेक शिक्षा के क्षेत्र में गढ़ रहे नये आयाम, छात्र को कंप्यूटर देकर मनाया जन्मदिन

प्रेम पाठक/सतबरवा

पलामू : विज्ञान विषय को सरल सहज तथा आस पास के परिवेश के उदाहरण द्वारा विद्यार्थियों को अच्छी समझ विकसित करने वाले राजकीय कृत सर्वोदय प्लस टू उच्च विद्यालय सतबरवा के भौतिक विज्ञान शिक्षकअभिषेक कुमार तिवारी द्वारा ग्रामीण विद्यार्थियों के लिए कंप्यूटर के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निर्वहन कर रहे हैं। वरिष्ठ इंजीनियर पंकज तिवारी के सहयोग से अपने जन्म दिवस पर इस बार अलग हट कर कुछ सृजन करने की प्रवृत्ति रखने वाले अभिषेक ने अपने विद्यालय से वर्ष 2022 मे उत्तीर्ण विज्ञान विषय के छात्र अनंत चौधरी जो मूल रूप से सतबरवा प्रखंड के खामंडीह गांव के निवासी हैं, जिनके पिता की मौत सड़क दुर्घटना मे विगत वर्षो में हो गयी थी उनको कंप्यूटर सेट देकर अपना जन्मदिन मनाया।

आपको बता दें कि शिक्षक अभिषेक प्रत्येक वर्ष अपने जन्मदिन पर रक्तदान करते आ रहे हैं। वह विद्यार्थियों के हित में लगातार ठोस पहल करते रहे हैं। बताते चलें कि कोरोना काल में 26 मार्च 2020 से प्रतिदिन आज तक ऑनलाइन क्लास के माध्यम से विद्यार्थियों को पढ़ाते आ रहे हैं।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

वर्ष 2017 से विद्यालय में विज्ञान विषय के वह एकमात्र शिक्षक हैं। विज्ञान संकाय के विद्यार्थियों के लिए अपने विद्यालय में अलग-अलग लड़के लड़कियों का व्हाट्सएप समूह निर्माण कर सत प्रतिशत जोड़ने तथा शैक्षणिक गतिविधियों की संपूर्ण जानकारी से सदैव परिचित कराते रहे हैं।

कोरोना काल के दौरान, जब विद्यालय बंद थे तब भी विद्यार्थियों के पाठ्यक्रम पूर्ण हो इसके लिए अपने विद्यालय के अधीनस्थ संपूर्ण पोषक क्षेत्र में मोहल्ले क्लास अलग-अलग गांव में शारीरिक दूरी बनाते हुए शिक्षण का कार्य किया।

प्रत्येक माह के तीसरे शनिवार को किसी विशिष्ट व्यक्ति जो जीवन के किसी भी क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन कर रहे हो उनको ऑनलाइन क्लास में आमंत्रित कर बच्चों के लिए सतत मार्गदर्शन कराया। जिससे विद्यार्थी अपनी भविष्य का मजबूत आधार निर्माण की आरंभ से ही रख सकें। सरकारी विद्यालय के शिक्षक होने के बावजूद भी रात्रि जब सभी विद्यार्थी घर में होते हैं, उनके लिए रात्रि पाठशाला का आयोजन कोरोना कल से आज तक रात्रि 8:00 बजे से 9:00 बजे प्रत्येक शनिवार जिसमें संपूर्ण एक सप्ताह जो विद्यालय में सोमवार से शनिवार तक पढ़े गये विषय का विश्लेषण एक कार्यक्रम डीएनए फिजिक्स के नाम से संचालन करते आ रहे हैं।

प्रत्येक माह विषयवार सतत मूल्यांकन उसका निदान तथा कमजोर विद्यार्थियों के लिए अलग से नए शैक्षिक कौशल के माध्यम से सुधार करने का लगातार प्रयास ही उनका उद्देश्य रहा है।

अपने विद्यालय से उत्तीर्ण हो चुके विद्यार्थियों के लिए प्रतियोगिता परीक्षा का आधार पर पाठ्यक्रम तथा सरकारी और प्राइवेट नौकरियां में अवसर उनकी योग्यता उम्र कार्य क्षेत्र में सतत ऑनलाइन क्लास के माध्यम से विद्यार्थियों को जागरूक करते रहते है।

शैक्षणिक रूप से मजबूत परंतु आर्थिक रूप से कमजोर विद्यार्थियों के लिए प्रत्येक माह कौन बनेगा हजारपाती कार्यक्रम का सतत आयोजन इसके अंतर्गत प्रथम स्थान विद्यार्थी को एक हजार रुपये नगद राशि प्रत्येक महीने देते रहे हैं। विद्यालय में चाहरदीवारी नहीं होने के कारण लगभग 500 गमले सहित विभिन्न प्रजातियां जैसे गुलाब, डहालिया, मोगरा, सूरजमुखी, रातरानी, बागन बलिया, उडहुल इत्यादि पौधे को लगाया और उन्हें गोद लिया।

प्रत्येक वर्ष अपने विद्यालय के विद्यार्थियों को शैक्षणिक भ्रमण कराते रहते हैं। विभिन्न स्थल भ्रमण से विद्यार्थियों के बीच एक मजबूत और शक्तिशाली सकारात्मक मानसिकता का विकास हो तथा जानकारी को आत्मसात करने में सहूलियत होती है। जीसीईआरटी के विभिन्न प्रशिक्षण तथा मूलभूत साक्षरता एवं संख्या ज्ञान के जिला स्तर के सदैव प्रशिक्षक रहे हैं तथा जिले स्तर पर नृत्य संगीत चित्रकला तथा अनेक बार सांस्कृतिक कार्यक्रम में निर्णायक मंडली में इनका नाम जिला स्तर से रखा जाता है। श्री तिवारी को विश्वास के साथ हमेशा सतबरवा इंस्पायर अवार्ड मानक के प्रखंड स्तरीय नोडल पदाधिकारी रहे हैं। साथ ही खेलो झारखंड प्रतियोगिता में प्रखंड स्तर पर प्रबंधक, मेंटर तथा टीम मैनेजमेंट की भूमिका का निर्वहन करते रहे हैं।

इनके द्वारा वर्ष 2023 में स्वलिखित विज्ञान विषय के विद्यार्थियों के लिए एक पुस्तक का लोकार्पण हुआ। जिसका नाम प्रथम प्रयोग भौतिक पुस्तक है। साथ ही प्रत्येक वर्ष विज्ञान विषय के विद्यार्थियों के लिए 10- 10 मॉडल सेट तथा 500 बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर का हल प्रश्न पत्र खुद से तैयार कर विद्यार्थियों के लिए परीक्षा की तैयारी में सहयोग करते हैं।

इनको पलामू के खान सर के उपनाम से भी जाना जाता है। इनको जिला शिक्षा पदाधिकारी पलामू द्वारा वर्ष 2021 पलामू जिले का सर्वश्रेष्ठ शिक्षक पुरस्कार सम्मान तथा वर्ष 2022 में पलामू जिले की तरफ से राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए राज्य स्तर पर अनुशंसा किया गया था।

अभिषेक तिवारी वर्ष 2017 से सर्वोदय प्लस टू उच्च विद्यालय में भौतिक विज्ञान के एकमात्र शिक्षक हैं, जो मूल रूप से गढ़वा जिले के सदर प्रखंड ग्राम बोलिया -रंका के निवासी हैं। डॉ रमेश चंचल गढ़वा जिन्हें राष्ट्रपति पुरस्कार तथा झारखंड रत्न से नवाजा गया है वह इनके चाचा हैं।

Palamu Satbarwa News Today