Breaking :
||दुमका में फिर पेट्रोल कांड, प्रेमिका और उसकी मां पर पेट्रोल डाल कर प्रेमी ने लगायी आग||छत्तीसगढ़ में पुलिस के साथ मुठभेड़ में चार नक्सली ढेर, शव बरामद||UP राज्यसभा चुनाव में BJP के आठों उम्मीदवारों ने की जीत हासिल||माओवादी टॉप कमांडर रविंद्र गंझू के दस्ते का सक्रिय सदस्य ढेचुआ गिरफ्तार||पलामू: तूफान और बारिश ने मचायी तबाही, दो छात्रों की मौत, कहीं गिरे पेड़ तो कहीं ब्लैकआउट||झारखंड के 4 IAS अधिकारियों का तबादला, JPSC के सचिव का भी हुआ ट्रांसफर||झारखंड में 23 IPS अफसरों का तबादला, अंजनी अंजन बने रांची के ग्रामीण एसपी||पलामू: ग्रामीण डॉक्टर का अपहरण, मरीज को दिखाने के बहाने क्लिनिक में आये थे अपराधी||Jharkhand Budget: बाबूलाल मरांडी ने कहा- बजट में जन कल्याणकारी योजनाओं का समावेश नहीं||विधानसभा में 1.28 लाख करोड़ का बजट पेश, 2 लाख तक के कृषि ऋण होंगे माफ़, जानिये सरकार की अन्य घोषणायें
Wednesday, February 28, 2024
चंदवापलामू प्रमंडललातेहार

नाम और मोबाइल नंबर नहीं बताने पर मनचलों ने युवती को ट्रेन से दिया धक्का

लातेहार : डाल्टनगंज से इंटरसिटी एक्सप्रेस पर सवार हुई युवती को कुछ मनचले लड़कों ने टोरी-लोहरदगा रेलखंड के पतराटोली के समीप नाम और फोन नंबर नहीं बताने पर ट्रेन से धक्का दे दिया। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गयी। घायल युवती को ग्रामीणों की मदद से चंदवा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ नंद कुमार पांडेय ने बताया कि युवती के सर व चेहरे पर गंभीर चोटें आईं हैं। प्राथमिक उपचार के बाद घटना की सूचना आरपीएफ व परिजनों को दे दी गई है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

युवती की पहचान 17 साल की खुशी कुमारी के रूप में हुई है। युवती कुंड मोहल्ला डाल्टनगंज की रहने वाली बताई जा रही है।

बताया जाता है कि टोरी-लोहरदगा रेलखंड के पतराटोली के समीप कुछ ग्रामीणों ने एक युवती को बेहोशी की हालत में देखा। जिसके बाद ग्रामीणों ने उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया।

घायल युवती ने बताया कि डाल्टनगंज से पलामू एक्सप्रेस पकड़कर वह टोरी स्टेशन पहुंची थी। रांची अपनी बहन के यहां जाने के लिए टोरी स्टेशन से इंटरसिटी एक्सप्रेस में सवार हुई।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्रेन के स्टेशन से छूटने के बाद मुझे मिचली आने लगी। जिससे मैं गेट के पास बेसिन की तरफ जा रही थी। जहां दो-तीन लड़के पहले से खड़े थे। मुझे देखने के बाद उन लोगों ने मेरा नाम और मोबाइल नंबर पूछना शुरू कर दिया। जब मैंने मना किया तो उन्होंने मुझे ट्रेन से बाहर धक्का दे दिया। जिससे मैं गिर कर बेहोश हो गयी। जब मेरी आंख खुली तो मैं अस्पताल में थी।