Breaking :
||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री||JPSC पीटी के मॉडल आंसर को चुनौती देने वाली याचिका हाईकोर्ट में खारिज, परीक्षा का रास्ता साफ||लातेहार: सेरेगड़ा पंचायत सेवक अर्जुन राम रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||झारखंड में चार DSP की ट्रांसफर-पोस्टिंग, समीर कुमार सवैया बने किस्को के DSP||झारखंड कैबिनेट का फैसला, सरकार करायेगी जातिगत गणना, विधायकों का वेतन भत्ता बढ़ा, रिटायर्ड कर्मचारियों को भी मिलेगी प्रमोशन||झारखंड को नशामुक्त राज्य बनाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध, हर किसी की सहभागिता जरूरी : मुख्यमंत्री||वन भूमि से कब्जा हटाने गयी टीम पर ग्रामीणों का हमला, पत्थरबाजी में वन क्षेत्र पदाधिकारी समेत एक दर्जन घायल||झारखंड में इस तारीख को मानसून की एंट्री, बारिश और वज्रपात का अलर्ट||लातेहार: दो बाइकों की टक्कर में मामा-भांजा समेत चार घायल समेत बालूमाथ की दो खबरें||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिस
Friday, June 21, 2024
चंदवापलामू प्रमंडललातेहार

नाम और मोबाइल नंबर नहीं बताने पर मनचलों ने युवती को ट्रेन से दिया धक्का

लातेहार : डाल्टनगंज से इंटरसिटी एक्सप्रेस पर सवार हुई युवती को कुछ मनचले लड़कों ने टोरी-लोहरदगा रेलखंड के पतराटोली के समीप नाम और फोन नंबर नहीं बताने पर ट्रेन से धक्का दे दिया। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गयी। घायल युवती को ग्रामीणों की मदद से चंदवा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ नंद कुमार पांडेय ने बताया कि युवती के सर व चेहरे पर गंभीर चोटें आईं हैं। प्राथमिक उपचार के बाद घटना की सूचना आरपीएफ व परिजनों को दे दी गई है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

युवती की पहचान 17 साल की खुशी कुमारी के रूप में हुई है। युवती कुंड मोहल्ला डाल्टनगंज की रहने वाली बताई जा रही है।

बताया जाता है कि टोरी-लोहरदगा रेलखंड के पतराटोली के समीप कुछ ग्रामीणों ने एक युवती को बेहोशी की हालत में देखा। जिसके बाद ग्रामीणों ने उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया।

घायल युवती ने बताया कि डाल्टनगंज से पलामू एक्सप्रेस पकड़कर वह टोरी स्टेशन पहुंची थी। रांची अपनी बहन के यहां जाने के लिए टोरी स्टेशन से इंटरसिटी एक्सप्रेस में सवार हुई।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्रेन के स्टेशन से छूटने के बाद मुझे मिचली आने लगी। जिससे मैं गेट के पास बेसिन की तरफ जा रही थी। जहां दो-तीन लड़के पहले से खड़े थे। मुझे देखने के बाद उन लोगों ने मेरा नाम और मोबाइल नंबर पूछना शुरू कर दिया। जब मैंने मना किया तो उन्होंने मुझे ट्रेन से बाहर धक्का दे दिया। जिससे मैं गिर कर बेहोश हो गयी। जब मेरी आंख खुली तो मैं अस्पताल में थी।