Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से एक बाइक सवार की मौत, दो की हालत गंभीर||लातेहार: माओवादियों की बड़ी साजिश नाकाम, बरवाडीह के जंगल से आठ आईईडी बम बरामद||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी
Tuesday, April 16, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: राष्ट्रवाद का संकल्प व मतदाता जागरूकता शिविर सह पैनल परिचर्चा का आयोजन

लातेहार : शहर के द होटल ब्लिस के सभागार में रविवार को अल्बर्ट एक्का गौरव रक्षा सम्मान समिति द्वारा राष्ट्रवाद का संकल्प एवम मतदाता जागरूकता शिविर सह पैनल परिचर्चा कार्यक्रम का आयोजन अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष सह समाजसेवी राजमणि प्रसाद की अध्यक्षता मे आयोजित की गयी।

Latehar Latest News Today

कार्यक्रम मे बतौर मुख्य अतिथि रिटायर्ड आईएएस रवि रंजन मिश्रा जबकि विशिष्ट अतिथि के रूप में रामनंदन सिंह (परपौत्र अमर शहीद नीलांबर-पीतांबर) मौजूद थे। मतदाता जागरूकता सह पैनल परिचर्चा में स्वामी दिव्यज्ञान, कार्यक्रम संयोजक विकास कुमार मिश्रा, पूर्व नगर पंचायत अध्यक्षा सह समाजसेवी सितामनी तिर्की, समाजसेवी अवधेश सिंह चेरो, वरीय अधिवक्ता अनिल ठाकुर, अधिवक्ता राजीव रंजन पांडेय, समाजसेवी संतोष कुमार सिंह, सुरेन्द्र वैद्य, समाजसेवी विनय कांत पांडेय, समाजसेवी मुकेश पाण्डेय, नवीन कुमार मिश्रा, पत्रकार उत्कर्ष पांडे, पूर्व उप प्रमुख सह समाजसेवी संजीव कुमार, समाजसेवी बीरेंद्र प्रसाद, छोटू राजा, हरिओम प्रसाद, नीरज कुमार, अधिवक्ता विनीत कुमार, समाजसेवी शीला देवी, अर्पणा सिंह, सितारा देवी समेत काफी लोग शामिल हुए।

Latehar Latest News Today

कार्यक्रम का विषय प्रवेश स्वामी दिव्यज्ञान ने कराया। जबकि संचालन प्रवीण मिश्रा ने किया। धन्यवाद ज्ञापन कार्यक्रम संयोजक विकास कुमार मिश्रा ने किया।

कार्यक्रम के दौरान दर्जनों लोगों ने संबधित विषय पर अपने-अपने विचार व्यक्त किये। मतदाता जागरूकता, मतदान की प्रतिशत अधिक से अधिक कैसे बढ़े, सुदूरवर्ती क्षेत्र के ग्रामीणों को वोट के लिए कैसे जागरूक करें, नोटा का प्रयोग संबधित विभिन्न प्रश्न पूछे गये। सभी प्रश्नों जवाब मुख्य अतिथि द्वारा देकर लोगो को संतुष्ट किया गया। मौके पर काफी संख्या में लोग मौजूद थे।

Latehar Latest News Today

रविवार को शहर के ब्लिस होटल में काफी हलचल रही, क्योंकि समाज के सम्मानित सदस्यों ने मतदाताओं के लिए जागरूकता अभियान चलाया। अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष और सामाजिक कार्यकर्ता राजमणि प्रसाद की अध्यक्षता में आयोजित इस कार्यक्रम का उद्देश्य राष्ट्रवाद और मतदाता जागरूकता के महत्व पर प्रकाश डालना था। सभी उपस्थित सम्मानित पैनलिस्टों द्वारा साझा की गयी। भावुक चर्चाओं और विचारोत्तेजक दृष्टिकोणों से आकर्षित हुए। कार्यक्रम का नेतृत्व विकास कुमार मिश्रा ने किया एवं कार्यक्रम के अध्यक्षता लातेहार बार एसोसिएशंस के अध्यक्ष राजमणि प्रसाद ने करी , जिन्होंने प्रत्येक नागरिक को वोट देने के अपने अधिकार का प्रयोग करने और समाज का एक जिम्मेदार सदस्य बनने की आवश्यकता पर जोर दिया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी रवि रंजन मिश्रा थे, जिन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान मतदाता जागरूकता को बढ़ावा देने की दिशा में काम करने के अपने अनुभव साझा किये। एक महत्वपूर्ण संदेश फैलाने के लिए जीवन के विभिन्न क्षेत्रों के व्यक्तियों को एक साथ आते देखना वास्तव में प्रेरणादायक था। रवि रंजन मिश्रा ने चुनाव खर्च से लेकर नोटा का वास्तविक संदर्भ भी लोगों को समझाया। वरिष्ठ पत्रकार वीरेंद्र प्रसाद के प्रश्न एवं समायोजन ने अद्भुत अभिव्यक्ति की।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथियों में से एक शहीद नीलांबर पीतांबर के वंशज रामनंदन सिंह थे। श्री सिंह की उपस्थिति हमारे देश की आजादी के लिए हमारे पूर्वजों द्वारा किये गये बलिदान की याद दिलाती है। उन्होंने इतने महत्वपूर्ण कार्य के लिए आयोजकों के प्रति आभार व्यक्त किया और सभी से मतदान के अपने अधिकार का सम्मान करने का आग्रह किया। राष्ट्रवाद और मतदाता जागरूकता पर पैनल चर्चा इस कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण थी।

मंच का संचालन करते हुए उत्कल मेल के प्रबंध संपादक प्रवीण मिश्रा ने विविध पहलू और विषयों का समायोजन किया लंबी चली परिचर्चा को मध्य में इंटरेस्टिंग इंटरप्शन भी किया और प्रश्न को सही रूप देने का काम किया।

प्रत्येक पैनलिस्ट ने अपने अनूठे दृष्टिकोण को मेज पर रखा, जिससे एक विविध और व्यावहारिक बातचीत हुई। स्वामी दिव्यज्ञान जी ने बताया कि कैसे मतदान न केवल एक नागरिक कर्तव्य है बल्कि एक आध्यात्मिक कर्तव्य भी है। उन्होंने ऐसे नेताओं को चुनने के महत्व पर जोर दिया जो नैतिक मूल्यों को कायम रखते हैं और समाज की भलाई के लिए काम करते हैं।

कार्यक्रम समन्वयक विकास मिश्रा ने पिछले चुनावों में मतदाता मतदान के आंकड़े साझा किये और बताया कि यह देखना निराशाजनक है कि कैसे केवल कुछ पात्र मतदाता ही अपने अधिकार का प्रयोग करते हैं। उन्होंने उपस्थित सभी लोगों से अपने परिवार और दोस्तों के बीच मतदान के बारे में जागरूकता फैलाने और उन्हें आगामी चुनावों में मतदान करने के लिए प्रोत्साहित करने का आग्रह किया।

पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष सीतामणि तिर्की ने ग्रामीण क्षेत्रों में काम करने के अपने अनुभव और हाशिए पर रहने वाले समुदायों को मतदान के बारे में शिक्षित करने में आने वाली चुनौतियों को साझा किया। उन्होंने देश के हर कोने तक पहुंचने और चुनावी प्रक्रिया में समान भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए इस जागरूकता अभियान जैसी और पहल की आवश्यकता पर जोर दिया।

सामाजिक कार्यकर्ता अवधेश सिंह चेरो और संतोष कुमार सिंह ने भी इसी तरह की भावना व्यक्त करते हुए कहा कि परिवर्तन लाने की शक्ति हर व्यक्ति के हाथ में है। उन्होंने समुदायों को वोट देने के लिए प्रेरित करने के अपने प्रयासों को साझा किया और बताया कि कैसे इसके परिणामस्वरूप जमीनी स्तर पर सकारात्मक बदलाव आए हैं। अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष राजमणि प्रसाद ने अध्यक्षता करते हुए मतदान के विविध आयामों पर चर्चा करी और बताया कि पिछले 10 वर्षों में किस तरह से मतदान का पैटर्न बदला है।

जैसे ही प्रत्येक पैनलिस्ट को सुना गया, प्रत्येक श्रोता को एहसास हुआ कि मतदान केवल एक साधारण कार्य नहीं है बल्कि एक जिम्मेदारी है जिसमें अपार शक्ति है। चर्चाओं में मतदाताओं की उदासीनता, गलत सूचना और पहुंच की कमी जैसे विभिन्न मुद्दों पर भी प्रकाश डाला गया जो मतदान में बाधा डालते हैं। इन सम्मानित व्यक्तियों को इस मुद्दे को उठाते हुए और अधिक सहभागी लोकतंत्र की दिशा में काम करते हुए देखकर खुशी हुई।

कार्यक्रम का समापन एक प्रश्नोत्तर सत्र के साथ हुआ जहां दर्शकों के सदस्यों को पैनलिस्टों के साथ बातचीत करने का अवसर दिया गया। देश के भविष्य को आकार देने में युवाओं की भूमिका, चुनावों पर सोशल मीडिया के प्रभाव और वोट-खरीद से निपटने के तरीकों के बारे में कई सवाल उठाये गये।

पैनलिस्टों ने मूल्यवान अंतर्दृष्टि और सुझाव प्रदान करते हुए धैर्यपूर्वक प्रत्येक प्रश्न का उत्तर दिया। कार्यक्रम से निकलते समय, मैं इस तरह के जानकारीपूर्ण और विचारोत्तेजक अभियान का हिस्सा बनने के लिए आभारी महसूस किए बिना नहीं रह सका। इससे न केवल वोट देने के अपने अधिकार के महत्व के बारे में लोगों की समझ बढ़ी बल्कि अपने आस-पास के लोगों तक यह संदेश फैलाने के लिए भी प्रेरणा मिली।

उम्मीद है कि इस तरह की पहल होती रहेगी और एक अधिक जागरूक और जिम्मेदार समाज का निर्माण होगा। जिम्मेदार नागरिक होने के नाते, यह हमारा कर्तव्य है कि हम न केवल अपना वोट डालें बल्कि दूसरों को भी ऐसा करने के लिए शिक्षित और प्रोत्साहित करें। आख़िरकार, एक मजबूत लोकतंत्र का निर्माण उसके नागरिकों की सक्रिय भागीदारी से ही किया जा सकता है।

Latehar Latest News Today