Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

पलामू ACB की टीम ने मुखिया को रिश्वत लेते रंगेहाथ पकड़ा

पलामू एसीबी की टीम ने शुक्रवार की दोपहर श्री बंशीधर नगर प्रखंड अंतर्गत कोलझिकी पंचायत के मुखिया अजय प्रसाद गुप्ता को 15 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार श्री बंशीधर नगर प्रखंड अंतर्गत कोलझिकी पंचायत के मुखिया अजय प्रसाद गुप्ता आंगनबाड़ी केंद्र से जुड़े एक व्यक्ति से रिश्वत की मांग कर रहे थे। जिसके बाद उस व्यक्ति ने इसकी जानकारी एसीबी को दी। एसीबी ने मामले की गहनता से जांच की। जांच में सही पाए जाने के बाद एसीबी ने टीम गठित कर यह कार्रवाई की है।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

जानकारी के अनुसार गढ़वा से लौटते समय मुखिया ने रमना से फोन कर उस व्यक्ति से 15 हजार रुपये रिश्वत की मांग की थी। वह जैसे ही रुपये लेकर मुखिया को देने पहुंचा एसीबी की टीम ने रमना बस स्टैंड स्थित सर्वेश्वरी चौक के पास से मुखिया को 15 हजार रुपये लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

रंगे हाथों पकड़े जाने के बाद मुखिया ने रुपये फेंककर शोर मचाना शुरू कर दिया। शोर सुनकर लोगों की भीड़ बढ़ने लगी। लोगों की भीड़ देख एसीबी भी कुछ देर के लिए अचकचा गयी। हालांकि एसीबी की टीम अजय प्रसाद गुप्ता को अपनी गाड़ी में बिठाकर मेदिनीनगर ले जाने में सफल रही। गिरफ्तारी के बाद रिश्वत लेने वालों में हड़कंप मच गया है।