Breaking :
||तैयारी में जुटे छात्र ध्यान दें: झारखंड कर्मचारी चयन आयोग ने एक दर्जन प्रतियोगी परीक्षाओं के विज्ञापन किये रद्द||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन||हेमंत ने जमशेदपुर वासियों को दी सौगात, जुगसलाई ओवरब्रिज का किया उद्घाटन||जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा का शुभारंभ, मुख्यमंत्री ने कहा- सभी जिलों को हवाई सेवा से जोड़ने की तैयार की जा रही कार्ययोजना||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी

बालूमाथ में पेंशनर दिवस पर वरीय पेंशनर सम्मान समारोह का आयोजन, कई पेंशनर रहे मौजूद

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

लातेहार : शनिवार को बालूमाथ प्रखंड कार्यालय परिसर स्थित पेंशनर भवन में पेंशनर दिवस वह वरीय पेंशनर सम्मान समारोह का आयोजन शशि भूषण प्रसाद की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसकी शुरुआत पेंशनर समाज द्वारा द्वारा ध्वजारोहण कर की गयी। इसके पश्चात 34 दिवंगत पेंशनर को दीप प्रज्वलित कर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए श्रद्धा सुमन अर्पित किया गया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मौके पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे शशि भूषण प्रसाद ने पेंशन की शुरुआत के इतिहास को बताते हुए कहा कि भारत में पेंशन की शुरुआत सन 1878 से प्रारंभ हुई थी जो सेवानिवृत्त हो चुके लोगों के लिए एक जीवन यापन करने का अच्छा साधन है और आज के ही दिन झारखंड राज्य में झारखंड राज्य पेंशनर समाज संघ का गठन किया गया था। जिसकी याद में यह समारोह आयोजित की जा रही है।

मौके पर क्षेत्र के सात वरीय पेंशनर धारी जासो खातून, शोभा उरावं, जनार्दन शुक्ला, मुंद्रिका देवी, प्रदुमन सिंह, कौलेश्वर सिंह, अमीर उरांव को अंग वस्त्र देकर उन्हें सम्मानित किया गया और पेंशनर समाज को और आगे कैसे सशक्त बनाया जाए इसके लिए विचार विमर्श किया गया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इस अवसर पर पेंशनर समाज के जानकी नंदन, राणा देवेंद्र कुमार सिन्हा, अशोक मिश्रा, बलजीत गंझू, अयूब अंसारी, उमेश साहू, जसिंता लकड़ा, मोहम्मद तैयब समेत काफी संख्या में पेंशनर मौजूद रहे।