Breaking :
||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत
Sunday, April 14, 2024
पलामू प्रमंडलबालूमाथलातेहार

बालूमाथ में पेंशनर दिवस पर वरीय पेंशनर सम्मान समारोह का आयोजन, कई पेंशनर रहे मौजूद

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

लातेहार : शनिवार को बालूमाथ प्रखंड कार्यालय परिसर स्थित पेंशनर भवन में पेंशनर दिवस वह वरीय पेंशनर सम्मान समारोह का आयोजन शशि भूषण प्रसाद की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसकी शुरुआत पेंशनर समाज द्वारा द्वारा ध्वजारोहण कर की गयी। इसके पश्चात 34 दिवंगत पेंशनर को दीप प्रज्वलित कर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए श्रद्धा सुमन अर्पित किया गया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मौके पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे शशि भूषण प्रसाद ने पेंशन की शुरुआत के इतिहास को बताते हुए कहा कि भारत में पेंशन की शुरुआत सन 1878 से प्रारंभ हुई थी जो सेवानिवृत्त हो चुके लोगों के लिए एक जीवन यापन करने का अच्छा साधन है और आज के ही दिन झारखंड राज्य में झारखंड राज्य पेंशनर समाज संघ का गठन किया गया था। जिसकी याद में यह समारोह आयोजित की जा रही है।

मौके पर क्षेत्र के सात वरीय पेंशनर धारी जासो खातून, शोभा उरावं, जनार्दन शुक्ला, मुंद्रिका देवी, प्रदुमन सिंह, कौलेश्वर सिंह, अमीर उरांव को अंग वस्त्र देकर उन्हें सम्मानित किया गया और पेंशनर समाज को और आगे कैसे सशक्त बनाया जाए इसके लिए विचार विमर्श किया गया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इस अवसर पर पेंशनर समाज के जानकी नंदन, राणा देवेंद्र कुमार सिन्हा, अशोक मिश्रा, बलजीत गंझू, अयूब अंसारी, उमेश साहू, जसिंता लकड़ा, मोहम्मद तैयब समेत काफी संख्या में पेंशनर मौजूद रहे।