Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरगढ़वापलामूपलामू प्रमंडललातेहार

पांच करोड़ रुपये की ठगी कर लातेहार, पलामू, गढ़वा से JSU इंडिया एजुकेशनल सोसायटी नामक संगठन फरार, थाने में शिकायत दर्ज

पलामू : पिछले एक साल से JSU इंडिया एजुकेशनल सोसाइटी नाम की संस्था द्वारा करोड़ों रुपये ठगकर करीब 4 से 5 हजार महिलाओं के फरार होने का मामला सामने आया है। इस संबंध में कई महिलाओं ने गढ़वा, लातेहार और पलामू के कई थानों में आवेदन कर कार्रवाई की मांग की है।

जानकारी के अनुसार पलामू, गढ़वा और लातेहार जिलों में महिलाओं से 30 से 35000 हजार रुपये प्रतिमाह देने के नाम पर बच्चों को घर-घर जाकर मुफ्त शिक्षा देने के एवज में संगठन की ओर से प्रति महिला 10 हजार रुपये लिए गए।

ठगी गई महिलाओं ने बताया कि अक्टूबर 2021 के महीने में संस्था की ओर से तीन तरह की बहाली हुई थी। जिसके तहत फील्ड ऑफिसर के लिए 750 रुपये, होम ट्यूटर के लिए 4000 रुपये और फ्री होम ट्यूटर से 2000 रुपये लेकर बहाली ली गई।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

महिलाओं ने बताया कि इसी लालच में महिलाओं ने बच्चों से 5 से 10 लाख रुपये कंपनी को दिए हैं। महिलाओं ने बताया कि कंपनी पलामू, गढ़वा और लातेहार से पांच करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम लेकर फरार हो गई है।

महिलाओं ने बताया कि हमने उत्तर प्रदेश के सरलाडीह गीता भवन निवासी पलामू जिला विकास अधिकारी सत्येंद्र त्रिपाठी और बिहार निवासी आरके पटेल को पूरा पैसा दिया था।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

महिलाओं ने बताया कि 17 जून 2022 को जब अचानक वेबसाइट बंद हो गई और उनके दोनों मोबाइल स्विच ऑफ हो गए तो हम घबरा गए। कुछ देर बाद पता चला कि कंपनी सबके पैसे लेकर फरार हो गई है। इस मामले को लेकर कंपनी के खिलाफ थाने में लिखित शिकायत की गई है।

पलामू प्रमंडल की ताज़ा ख़बरें यहाँ पढ़ें

JSU इंडिया