Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

संविधान दिवस पर उपायुक्त ने पदाधिकारियों व कर्मियों को दिलायी संविधान की शपथ

लातेहार : संविधान दिवस के अवसर पर आज समाहरणालय सभागार में संविधान दिवस की शपथ दिलायी गयी। इस दौरान उपायुक्त भोर सिंह यादव की उपस्थिति में संविधान की प्रस्तावना पढ़कर शपथ ली गयी।

इस मौके पर उपायुक्त ने कहा कि 26 नवंबर 1949 को संविधान के प्रारूप को संविधान सभा ने अंगीकार किया था। आज का दिन अपार हर्ष और उल्लास का दिन है। हर साल 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

उन्होंने कहा कि संविधान दिवस के अवसर पर संविधान की प्रस्तावना पढ़ी जाती है। प्रस्तावना संविधान की आत्मा है, यह देश और देशवासियों के शासन के लिए एक मार्गदर्शक है। प्रस्तावना संविधान के मूल ढांचे का हिस्सा है। आइए, हम सब मिलकर संविधान दिवस के अवसर पर समाज में संविधान के महत्व को फैलाने की शपथ लें और डॉ. भीमराव अंबेडकर के अमूल्य योगदान और उनके विचारों और आदर्शों को याद करें।

जिला शिक्षा अधिकारी श्री प्रिंस तिवारी ने कहा कि संविधान की प्रस्तावना में राष्ट्र की प्रकृति और उसकी शासन प्रणाली और उसके उद्देश्यों का सार समाहित है।

जिला कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुरजा कुजूर ने कहा कि संविधान ने हम सभी देशवासियों को विभिन्न अधिकार दिए हैं। हम सभी को अपने संविधान के बारे में पता होना चाहिए।

इस दौरान परियोजना निदेशक आईटीडीए विंदेश्वरी तत्मा, उप समाहर्ता आलोक शिकारी, कच्छप अनुमंडल पदाधिकारी लातेहार शेखर कुमार सहित जिले के अन्य अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।