Breaking :
||हजारीबाग सांसद जयंत सिन्हा ने राजनीति से लिया संन्यास, भाजपा अध्यक्ष को लिखा पत्र, जानिये वजह||दुमका में स्पेनिश महिला पर्यटक से गैंग रेप, तीन आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: बारियातू में बाइक पर अवैध कोयला ले जा रहे नौ लोग गिरफ्तार, जेल||लातेहार: अपराध की योजना बनाते दो युवक हथियार के साथ गिरफ्तार||पलामू: पेड़ से टकराकर पुल से नीचे गिरी बाइक, दो नाबालिग छात्रों की मौत, दो की हालत नाजुक||लोकसभा चुनाव: भाजपा ने की झारखंड से 11 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा, चतरा समेत इन तीन सीटों पर सस्पेंस बरकरार||लोससभा चुनाव: भाजपा की 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, देखें पूरी लिस्ट||सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों का हंगामा||झारखंड विधानसभा: बजट सत्र के अंतिम दिन कई विधेयक पारित||धनबाद: अस्पताल में लगी आग, मची अफरा-तफरी, मरीज और परिजन जान बचाकर भागे
Sunday, March 3, 2024
पलामू प्रमंडलबरवाडीहलातेहार

लातेहार: ओझा गुणी के शक में हुई थी वृद्ध की हत्या, पुलिस ने किया खुलासा, चार आरोपी गिरफ्तार

लातेहार : जिले के छिपादोहर थाना क्षेत्र के मुंडू गांव के बरवाताड़ टोला में कुएं में मिली रामप्रसाद कोरबा की लाश की घटना का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। इस मामले में पुलिस ने एक ही परिवार के चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। मृतक व गिरफ्तार सभी आरोपी बरवाताड़ टोला के रहने वाले हैं।

एसडीपीओ दिलु लोहरा ने मंगलवार को पत्रकार वार्ता में बताया कि 11 अप्रैल को रामप्रसाद कोरबा (62) का शव गांव से कुछ दूर स्थित कुएं से बरामद किया गया था। मृतक के शरीर पर चोट के कई निशान थे। मामले की जांच के लिए एसपी अंजनी अंजन के निर्देश पर एसआईटी गठित की गयी थी।

एसआईटी जांच में खुलासा हुआ कि मृतक रामप्रसाद कोरबा ओझा गुणी का काम करता था। वहीं कुछ दिन पूर्व उसी गांव निवासी मधेश्वर लोहरा के परिवार से जमीन विवाद को लेकर उनका झगड़ा हो गया था। इसी बीच पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर मधेश्वर लोहरा व उसके बेटों विनोद लोहरा, लालमोहन लोहरा व एक अन्य रिश्तेदार दीपक लोहरा को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

पूछताछ में मधेश्वर लोहरा व अन्य ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। गिरफ्तार अपराधियों ने पुलिस को बताया कि कुछ दिन पहले मधेश्वर लोहरा के सात वर्षीय पोते की कुएं में गिरकर मौत हो गयी थी। बच्चा मानसिक रूप से विक्षिप्त था। मृतक के परिजनों को अंदेशा था कि रामप्रसाद लोहरा ने भूत-प्रेत की पूजा कर बच्चे की हत्या की है। इसके अलावा दोनों परिवारों के बीच जमीन को लेकर भी विवाद चल रहा था। इसी गुस्से में मधेश्वर के परिवार के लोगों ने मिलकर रामप्रसाद कोरबा की हत्या कर दी और शव को कुएं में फेंक दिया।

छापामारी अभियान में एसडीपीओ दिलु लोहरा के अलावे सर्किल इंस्पेक्टर अनिल उरांव, छिपादोहर थाना प्रभारी अभिषेक कुमार, पुलिस अवर निरीक्षक रंजीत कुमार, काशी महली, राजेश कुमार समेत सशस्त्र बल शामिल थे।

Latehar Barwadih Murder News