Breaking :
||लातेहार: लापरवाह वाहन चालक हो जायें सावधान! कल से पुलिस चलायेगी जिलेभर में सघन वाहन चेकिंग अभियान||झारखंड की नाबालिग लड़की के साथ अमानवीय व्यवहार करने वालों के खिलाफ मुख्यमंत्री ने दिये सख्त कार्रवाई के आदेश||लातेहार: बालूमाथ में ट्यूशन पढ़ाकर घर लौट रहे शिक्षक की सड़क दुर्घटना में मौत||हेमंत सरकार ने खिलाड़ियों के सर्वांगीण विकास को लेकर की जोहार खिलाड़ी स्पोर्ट्स इंटीग्रेटेड पोर्टल की शुरुआत, खिलाड़ियों की समस्याओं के निराकरण में होगा सहायक||रामगढ़, चतरा व लातेहार में कोयला कारोबारियों पर जानलेवा हमला करने वाले TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, एक लातेहार का||अब राज्य के सरकारी शिक्षकों को ‘लीव मैनेजमेंट मॉड्यूल’ के माध्यम से ही मिलेगी छुट्टी, अन्य माध्यमों से दिये गये आवेदन होंगे रद्द||लातेहार: बालूमाथ में हुई विवाहिता हत्याकांड का खुलासा, चार अभियुक्तों ने मिलकर की थी बेरहमी से हत्या||पलामू: शहर में बिना अनुमति के जुलूस निकालने पर होगी कार्रवाई, रात 10 बजे के बाद डीजे बजाने पर रोक||लातेहार: मवेशियों से लदा ट्रक दुर्घटनाग्रस्त, ग्रामीणों ने एक तस्कर को पकड़ कर किया पुलिस के हवाले, डाल्टनगंज से खरीद कर रांची के मांस कारोबारी को जा रहे थे पहुंचाने||प्रेमिका से वीडियो कॉल पर बात करते प्रेमी ने दे दी जान

पलामू: सतबरवा में एक भी बालू घाट नहीं, मनमाने दामों पर बिक रही रेत

पलामू : जिले के सतबरवा में एक भी बालू घाट की बंदोबस्ती नहीं है। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल( एनजीटी) की रोक के बावजूद प्रतिबंधित दिनों में हर रोज दर्जनों ट्रैक्टर से हजारों सीएफटी बालू का उठाव किया गया। इस दौरान ट्रैक्टर संचालकों द्वारा कृत्रिम बालू की किल्लत बताकर मनमाने तरीके से चौगुना दामों पर बालू बेचे गए।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इस दौरान बालू से जुड़े संचालक, ट्रैक्टर ड्राइवर तथा मजदूर और अन्य लोगों को बुलाकर मोबाइल तथा इलेक्ट्रॉनिक उपकरण से लिए गए फोटो को लूटकर जबरदस्ती डिलीट करा दिए जाते थे। नहीं मानने पर उसकी पिटाई भी की जाती है तथा ट्रैक्टर चढ़ाने की कोशिश किए जाने का मामला प्रकाश में आते रहता है।

ट्रैक्टर संचालकों के दबंगई तथा धौस के चलते गांव के ग्रामीण निरीह बन जाते हैं और शिकायत थाना पुलिस के अलावा अन्य जगह पर नहीं कर पाते हैं। इधर सतबरवा के रैयत वर्तमान मेदिनीनगर निवासी विनीत कुमार सिंह उर्फ बाबू भाई ने फोटो को सोशल मीडिया पर अपलोड कर लोगों को जागरूक करने का अभियान चला रखा है।

इस दौरान उन्होंने जिला खनन पदाधिकारी समेत कई को जानकारी दी है। विदित हो कि 15 सितंबर को सतबरवा औरंगा नदी के सलैया घाट, फुलवरिया घाट, मानासोती, लेदवाखांड तथा हलुमाड़ के छेछानी घाट से दर्जनों ट्रैक्टर द्वारा बालू का उठाव हो रहा था।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

पीएम आवास के कई लाभुकों ने बताया कि एनजीटी लागू होने के दौरान दो से तीन हजार रुपए के दर से प्रति ट्रैक्टर बालू की खरीदी की। जबकि उस समय बाजार में 8 से 10 सौ रुपए प्रति ट्रैक्टर बालू की रेट है।

अंचलाधिकारी प्रशांत कुमार शाह ने बताया कि जानकारी के अनुसार सतबरवा में एक भी बंदोबस्त बालू घाट नहीं है। इधर के बालू की काला बाजारी विभिन्न घाटों पर ट्रैक्टर संचालकों द्वारा दबंगई तथा किसी को भी ट्रैक्टर के नीचे दबाकर मार डालने का प्रयास की भर्त्सना भाजपा, आरजेडी, कांग्रेस समेत भाकपा माले नेता कमेश सिंह चेरों ने निंदा की है।