Breaking :
||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री||JPSC पीटी के मॉडल आंसर को चुनौती देने वाली याचिका हाईकोर्ट में खारिज, परीक्षा का रास्ता साफ||लातेहार: सेरेगड़ा पंचायत सेवक अर्जुन राम रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||झारखंड में चार DSP की ट्रांसफर-पोस्टिंग, समीर कुमार सवैया बने किस्को के DSP||झारखंड कैबिनेट का फैसला, सरकार करायेगी जातिगत गणना, विधायकों का वेतन भत्ता बढ़ा, रिटायर्ड कर्मचारियों को भी मिलेगी प्रमोशन||झारखंड को नशामुक्त राज्य बनाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध, हर किसी की सहभागिता जरूरी : मुख्यमंत्री
Friday, June 21, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: पोचरा में नव दिवसीय रामलीला कार्यक्रम शुरू, जीवंत चित्रण ने लोगों को किया मंत्रमुग्ध

लातेहार : सदर प्रखंड के हेठपोचरा शिव मंदिर के बगल में बुधवार की रात रामायण प्रचारक मंडल प्रयागराज की ओर से 9 दिवसीय रामलीला महोत्सव का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम का विधिवित उदघाटन जिला परिषद सदस्य विनोद उरांव, वरिष्ठ समाजसेवी सुशील कुमार अग्रवाल, मोती सोनी, हेठपोचरा पंचायत के मुखिया रामजी सिंह पूर्व मुखिया रामेश्वर सिंह, नागमणि, ग्राम प्रधान रणजीत सिंह, सुनील गुप्ता, मिनी गुप्ता, पंचायत समिति सदस्य रामविलास सिंह, शंभू प्रसाद, अनुपम कुमार मिश्र, शिक्षक अनूप कुमार, लाल अभिषेक नाथ शाहदेव, उपेंद्र प्रसाद, सत्येंद्र प्रसाद, रिंकू प्रसाद, लाल जितेंद्र नाथ शाहदेव के द्वारा संयुक्त रूप से फीता काटकर किया गया।

सनातन संस्कृति की रक्षा और घर्म- कर्म के प्रचार-प्रसार के लिए रामायण प्रचारक मंडल प्रयागराज ने रामलीला का सजीव चित्रण किया। बुधवार की रात कलाकारों ने दशरथ पुत्रेष्टि यज्ञ एवं राम जन्मभूमि आगमन, तड़का मरीचि सुबाहु वध का चित्रण कर सभी को मंत्र मुग्ध कर दिया।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

प्रचारक मंडल के संचालक देवनारायण चौरसिया और अमित कुमार के ने बताया कि 23 नवंबर को सीता स्वयंवर, रावण बाणासुर संवाद, जनक विलाप, 24 नवंबर को परशुराम लक्ष्मण संवाद, राम-सीता विवाह प्रस्तुत किया जायेगा।

उन्होंने बताया कि आज के इस आधुनिक युग में जब हर घर हर हाथ में मोबाइल, टीवी, कंप्यूटर का कब्जा है इसके बावजूद गांव में रामलीला देखने का क्रेज लोगों में अभी भी बना हुआ है। इस दौरान राम के जन्म भूमि का वर्णन सुनकर महिलाएं भाव विभोर होकर झूमने लगी।

कार्यक्रम का संचालन अनुपम कुमार मिश्रा के द्वारा किया गया। इस अवसर पर रिंकू प्रसाद, अनुज प्रसाद, मुकेश उरांव, रोशन प्रसाद, मुरली साव, कुलदीप बैठा, दिलीप प्रसाद, निरंजन प्रसाद, पंकज ठाकुर, रामलगन राम सहित बड़ी संख्या में दर्शक मौजूद थे।