Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Saturday, June 22, 2024
पलामू प्रमंडलमनिकालातेहार

लातेहार: सतबरवा में संदिग्ध हालत में मिला मनिका के युवक शव, कथित हत्या के विरोध में एनएच जाम

कौशल किशोर पांडेय/मनिका

मुआवजा और नौकरी की मांग, विधायक व मनिका प्रखंड प्रशासन की पहल पर हटाया जाम

लातेहार : जिले के मनिका प्रखंड के दूंदू गांव निवासी अशोक राम की कथित हत्या के खिलाफ ग्रामीणों ने परिजनों के साथ शव को मुख्य पथ पर रखकर मटलौंग मोड़ के पास एनएच-75 जाम कर दिया। ग्रामीण मृतक के परिजनों को नौकरी व मुआवजा की मांग कर रहे थे।

विधायक से उलझ गये जामकर्ता

करीब एक घंटे तक सड़क पूरी तरह से जाम रहा। जाम से सड़क के दोनों ओर गाड़ियों की लंबी कतारें लग गयी।यात्री परेशान दिखे। घटना की सूचना मिलते ही विधायक रामचंद्र सिंह घटनास्थल पर पहुंचे और परिजनों को हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। इसके बावजूद परिजनों को लीड कर रहे भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने विधायक की एक नहीं सुनी। उल्टे विधायक से उलझ गये।

भीम आर्मी के कार्यकर्ता प्रदर्शन में थे शामिल

इधर, घटना की सूचना मिलते ही बीडीओ बीरेंद्र किंडो, एसआई गौतम कुमार, प्रदीप राय दल बल के साथ घटना स्थल पहुंचे। विधायक के समझाने के बाद भी काफी देर तक भीम आर्मी के कार्यकर्ता नहीं माने। कार्यकर्ता भीम आर्मी जिंदाबाद के नारे लगाते हुए शव को सड़क पर रखकर विरोध प्रदर्शन करते रहे।

लिखित आश्वासन के बाद हटाया जाम

मौके पर भीम आर्मी के कार्यकर्ता मृतक के परिजनों को 20 लाख रुपये मुआवजा, सरकारी नौकरी, बच्चों को निःशुल्क शिक्षा और आरोपी की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। मौके पर बीडीओ ने जामकर्ताओं को लिखित आश्वासन दिया। इसके बाद जाम हटाया गया। इस जाम में मेदिनीनगर विधायक आलोक चौरसिया भी फंसे रहे।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मौके पर कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष सुरेंद्र पासवान, विधायक प्रतिनिधि दरोगी प्रसाद यादव, सुरेंद्र भारती, 20 सूत्री अध्यक्ष विश्वनाथ पासवान, मिथिलेश पासवान समेत कई लोग उपस्थित रहे।

क्या है मामला

मनिका प्रखंड के दूंदू के जोड़ा सेमर गांव निवासी अशोक राम 35 वर्ष का शव संदिग्ध अवस्था में सतबरवा थाना क्षेत्र के भलवही मोड़ के पास रविवार की सुबह मुख्य पथ के किनारे मिला। सतबरवा पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए मेदिनीनगर भेज दिया। वहीं मृतक के पुत्र नवीन कुमार मेहरा ने बताया कि शनिवार की रात जुंगुर से किसी ने फोन करके बुलाया था। उन्होंने कहा कि थोड़ी देर में लौट आयेगे। लेकिन रातभर वापस नहीं आये। पुलिस मामले की तफ्तीश कर रही है। मृतक का बाइक सड़क के एक तरफ और उसका शव दूसरी तरफ था। यह हत्या है अथवा एक्सीडेंट पुलिस इसकी जांच कर रही है।

क्या कहते हैं विधायक

विधायक रामचंद्र सिंह ने कहा कि मृतक के परिजनों को न्याय दिलाने के लिए वे हर संभव मदद करेंगे। वहीं उन्होंने कहा कि यदि हत्या है तो आरोपी किसी भी कीमत पर बख्शे नहीं जायेंगे। उन्होंने कहा कि मृतक के परिजनों को आवास, पेंशन, पारिवारिक लाभ योजना और सरकारी प्रावधान के तहत मिलने वाली हर सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी।

मनिका हत्या सड़क जाम