Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Friday, June 21, 2024
पलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: लेस्लीगंज-सतबरवा पथ बारिश के बाद गड्ढे में तब्दील, बीच सड़क पर गंदे जलजमाव में बैठ कर जताया विरोध

पलामू : जिले के लेस्लीगंज-सतबरवा पथ की हालत बारिश के बाद काफी खराब हो गयी है। सबसे खराब स्थिति प्रखंड मुख्यालय के ढेला गांव आशीर्वाद अस्पताल के पास है, जहां सड़क पहले से ही गड्ढे में तब्दील हो गयी है। इसमें बारिश का पानी जमा हो गया है। यात्रियों को हर कदम पर परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस सड़क में सुधार नहीं होने पर सोमवार को प्रखंड क्षेत्र के किरतो निवासी दिलीप तिवारी ने चिलचिलाती धूप में सड़क के बीच गंदे पानी भरे गड्ढे में बैठकर विरोध जताया।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

तिवारी के समर्थन में कुराइन पतरा पंचायत के उपमुखिया अनुज कुमार और सामाजिक कार्यकर्ता हरिओम प्रजापति भी बैठ गये। तिवारी ने बताया कि राहगीरों को कदम-कदम पर परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सड़क यातायात की दृष्टि से यह अत्यंत महत्वपूर्ण है। यह सड़क करीब बीस गांवों को जोड़ती है। सड़क के बीचोबीच जलजमाव हो गया है। इससे राहगीरों का आवागमन कष्टकारी हो गया है। दुर्घटना का भी खतरा बना रहता है।

ग्रामीणों ने महीनों तक सड़क मरम्मत की मांग की, लेकिन स्थानीय जन प्रतिनिधियों ने इस सड़क की खराब स्थिति पर ध्यान नहीं दिया। अब हम सड़क पर बैठे हैं। जब तक जलजमाव का समाधान नहीं हो जाता, हमलोग पानी में ही बैठे रहेंगे। अनशनरत युवा कार्यकर्ताओं का कहना है कि जब तक प्रशासन लिखित आश्वासन नहीं देता है। अनशन खत्म नहीं करेंगे।

गौरतलब है कि लेस्लीगंज मुख्यालय के नया बाजार चौक से राजहरा होते हुए सतबरवा तक इस सड़क का निर्माण करोड़ों की लागत से किया गया है, लेकिन सड़क गुणवत्तापूर्ण नहीं होने के कारण जगह-जगह गड्ढे बन गये हैं और जलजमाव हो गया है।