Breaking :
||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी||गढ़वा: पड़ोसी युवक के साथ भागी दो बच्चों की मां, बंधक बनाकर पीटा||भूख हड़ताल पर बैठे पारा मेडिकल कर्मियों की तबीयत बिगड़ी, भेजा अस्पताल||Good News: झारखंड में मरीजों के लिए जल्द शुरू होगी एयर एंबुलेंस की सुविधा, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान||लातेहार: मनिका बालक मध्य विद्यालय में हुई चोरी मामले का खुलासा, तीन गिरफ्तार, चोरी का सामान बरामद||चतरा में सुरक्षाबलों से नक्सलियों की मुठभेड़, एक नक्सली ढेर, देखें तस्वीर||झारखंड: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प, दर्जनों लोग घायल, तनाव||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत

लातेहार जिला परिषद उपाध्यक्ष ने प्रसव पीड़ा से कराहती महिला से रुपये मांगने की घटना को बताया अमानवीय कृत्य, की निंदा

हेरहंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की घटना दुर्भाग्यपूर्ण ही नहीं अमानवीय भी : अनीता देवी

लातेहार : जिला परिषद उपाध्यक्ष अनीता देवी ने हेरहंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सह हेल्थ वेलनेस सेंटर में प्रसव पीड़ा से कराह रही महिला के परिजनों से पैसे मांगने की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण व अमानवीय बताते हुए कड़ी निंदा की है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उन्होंने बताया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सह हेल्थ वैलनेस सेंटर में सोमवार को दो एएनएम ने एक महिला की डिलीवरी के लिए 18 हजार रुपये नगद व कान की बाली न देने पर 18 हजार रुपये की मांग की और इस बीच डिलीवरी 4 घंटे देर से कराने की घटना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण एवं अमानवीय है।

उन्होंने घटना की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि घटना में शामिल दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाये। इस संबंध में उपाध्यक्ष द्वारा प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी से चर्चा की गयी। उनके द्वारा बताया गया कि घटना की जांच कर रिपोर्ट सिविल सर्जन को भेज दी गयी है। साथ ही दोनों एएनएम से स्पष्टीकरण मांगा है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

उन्होंने कहा कि सिर्फ स्पष्टीकरण मांगने से पीड़िता को न्याय नहीं मिलेगा। यह सरासर बाली लूट की घटना है जिस पर प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जाये और इस घटना में शामिल एएनएम को बर्खास्त किया जाये।

मामले में उपाध्यक्ष द्वारा सिविल सर्जन को व्यक्तिगत रूप से घटना की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने बताया कि इस तरह की घटना हमारे सामाजिक सरोकार और मानवता पर धब्बा है। दोषियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाना चाहिए।