Breaking :
||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत||लातेहार: बारियातू में पेड़ से लटका मिला महिला का शव, जांच में जुटी पुलिस||गुमला में TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, हथियार और जिंदा कारतूस समेत अन्य सामान बरामद||चतरा: नक्सलियों की बड़ी साजिश नाकाम, दो सिलेंडर बम बरामद||मनी लॉन्ड्रिंग मामले में निलंबित मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम की जमानत याचिका खारिज, पत्नी व पिता को भी नहीं मिली राहत||नहाय खाय के साथ सूर्योपासना का चार दिवसीय चैती छठ महापर्व शुरू||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में अनुपस्थित 56 मतदान कर्मियों को मिला आखिरी मौका, उपस्थित नहीं हुए तो होगी कार्रवाई
Sunday, April 14, 2024
पलामू प्रमंडलमनिकालातेहार

लातेहार: मनिका में भूमि अधिग्रहण संघर्ष समिति ने की उपायुक्त से जांच कर उचित मुआवजा दिलाने की मांग

बबन पासवान/मनिका

सरकार द्वारा निर्धारित मुआवजे में झारखंड के किसी भी कोने में नहीं मिलेगी जमीन

लातेहार : भूमि अधिग्रहण संघर्ष समिति मनिका के तत्वाधान में लोहिया भवन के प्रांगण में भूमि अधिग्रहण संघर्ष समिति के अध्यक्ष सुरेंद्र पासवान की अध्यक्षता में बैठक की गयी। जिसमें मनिका, सिंजो, नामुदाग, एजामाड, लाली, औराटाड, नदबेलवा, जमुना दुंदु गांव के सैंकड़ों रैयत उपस्थित हुए।

Latehar Manika News Today

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मौके पर समिति के अध्यक्ष श्री पासवान ने कहा कि मनिका प्रखंड में एनएच भूमि अधिग्रहण में 9 गांव आ रहे हैं, जिसमें सभी गांव का मुआवजे की राशि अलग-अलग तय की गयी है। श्री पासवान ने कहा कि मनिका और सिंजो को छोड़ दिया जाए तो अन्य सभी गांव का जो सरकार के यहां से मुआवजा राशि तय की गयी है उसको नहीं लगता है कि झारखंड के किसी कोने में इस मूल्य पर जमीन मिलेगा।

श्री पासवान ने कहा कि दुंदु गाँव की मुआवजा राशि सरकार के यहां से 1105 रुपये प्रति डिसमिल तय है, यदि एनएच विभाग के द्वारा 4 गुना मुआवजा मिलता है तो 4420 रुपये प्रति डिसमिल मुआवजा रैयतों को मिलेगा। 4420 रुपये डिसमिल झारखंड के किसी कोने में जमीन नहीं मिलेगी। जो बेचिरागी गांव है वहां भी इस दर पर जमीन नहीं मिल सकती है, तो फिर हम लोग कैसे जमीन देंगे।

श्री पासवान ने जिले के उपायुक्त से एनएच भूमि अधिग्रहण मामले की जांच करा कर रैयतों को उचित मुआवजा दिलाने की मांग की है।

मौके पर महेश सिंह, जितेंद्र यादव, रिंकू मिस्त्री, हरि यादव, परमानंद यादव, मिथिलेश पासवान, नाजिम अली, नवीन अंसारी, शिवराम, गिरवर पासवान, विशाल पासवान, सुरेंद्र यादव, आनंद प्रजापति, नवल सिंह, इनामुल अंसारी, अमरेश यादव समेत कई लोग उपस्थित थे।