Breaking :
||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
Sunday, February 25, 2024
पलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: पांकी से JJMP का एरिया कमांडर गिरफ्तार, कई मामलों में पुलिस को थी तलाश

पलामू : जिले की पांकी थाना पुलिस ने ताल पंचायत के खजुरी गांव से जेजेएमपी उग्रवादी संगठन के एरिया कमांडर प्रमोद सिंह उर्फ दीपक को गिरफ्तार किया है। एरिया कमांडर को शुक्रवार को खजूरी स्थित उसके घर से गिरफ्तार किया गया। प्रमोद सिंह उर्फ दीपक इन दिनों लेवी के लिए बीड़ी पत्ता ठेकेदारों और चिमनी भट्ठा मालिकों को धमकी देने में लगा हुआ था। इसी क्रम में वह घर आया, गुप्त सूचना मिलते ही पुलिस टीम गठित कर छापेमारी की गयी और घर से भागने के क्रम में उसे पकड़ लिया गया।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

लेस्लीगंज के एसडीपीओ आलोक कुमार टूटी ने पांकी थाने में बताया कि प्रमोद सिंह उर्फ दीपक पिछले चार वर्षों से जेजेएमपी उग्रवादी संगठन में सक्रिय था और लगातार ईंट भट्ठा मालिकों, बीड़ी पत्ता ठेकेदारों, सड़क निर्माण ठेकेदारों आदि पर लेवी वसूलने का दबाव बना रहा था। गुप्त सूचना मिलने पर पांकी थाना प्रभारी रंजीत प्रसाद के नेतृत्व में कार्रवाई की गयी और खजुरी स्थित उसके घर से उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

एसडीपीओ ने बताया कि 13 दिसंबर 2021 को जेजेएमपी का जोनल कमांडर विकास लोहरा अपने दस्ते के साथ पांकी थाना क्षेत्र के खजुरी में बुधराम के घर के पास बैठक कर रहा था। इसमें प्रमोद सिंह उर्फ दीपक भी शामिल था। गुप्त सूचना के आधार पर एएसपी के नेतृत्व में कार्रवाई की गयी और जेजेएमपी के सात उग्रवादियों को गिरफ्तार कर लिया गया, लेकिन विकास और प्रमोद मौके से भाग गये। तब से पुलिस लगातार प्रमोद की तलाश में जुटी हुई थी।