Breaking :
||लातेहार: बारियातू में ऑटो चालक की गोली मारकर हत्या, विरोध में सड़क जाम||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर
Sunday, February 25, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: चिकित्सकों के कार्य बहिष्कार से स्वास्थ्य सेवायें ठप, मरीज हलकान

लातेहार में डॉक्टर हड़ताल पर

लातेहार : राज्य में लगातार हो रहे चिकित्सकों पर हमले के विरोध में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) व झारखंड स्वास्थ्य सेवा संघ (झासा) के संयुक्त आह्वान पर जिले के सरकारी व निजी अस्पतालों के चिकित्सकों ने बुधवार को स्वास्थ्य सेवाओं को ठप कर दिया है।

हालांकि, इमरजेंसी सेवा और अस्पताल में भर्ती मरीजों के इलाज को हड़ताल से बाहर रखा गया है। यह कार्य बहिष्कार गुरुवार की सुबह छह बजे तक रहेगी। हड़ताल का मुख्य उद्देश्य चिकित्सकों को सुरक्षा प्रदान करना है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मौके पर जिला मुख्यालय के सभी चिकित्सक सदर अस्पताल स्थित उपाधीक्षक कार्यालय में एकत्रित हुए। इस दौरान चिकित्सकों ने सुरक्षा की मांग की और चिकित्सकों पर हुए हमलों पर विरोध जताया।

इधर, इस हड़ताल के दौरान आपातकालीन सेवा को छोड़कर अन्य कार्य पूरी तरह से बाधित रहे। ओपीडी में मरीजों का इलाज नहीं होने से मरीजों की भीड़ से सदर अस्पताल में अफरातफरी मच गयी। इस दौरान ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले मरीजों का सामान्य दिनों की तरह इलाज नहीं हो सका। कई मरीज बिना इलाज कराये ही वापस लौट गये तो कई मरीज डॉक्टरों से इलाज की गुहार लगाते नजर आये।

इस अवसर पर झासा अध्यक्ष सिविल सर्जन डॉ. दिनेश कुमार ने कहा कि पिछले 15 दिनों में प्रदेश के विभिन्न जिलों में डॉक्टरों पर हमले के आधा दर्जन मामले सामने आ चुके हैं। लेकिन चिकित्सकों की सुरक्षा को लेकर सरकार के द्वारा अब तक कोई कदम नहीं उठाये गये।

आईएमए पलामू प्रमंडल के संयुक्त सचिव डॉ. एसके सिंह ने कहा कि डॉक्टरों पर जानलेवा हमले व मारपीट के विरोध में हम सभी डॉक्टरों ने एक दिन की सांकेतिक हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि डॉक्टरों की सुरक्षा व अन्य मांगों को लेकर पूर्व में भी मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा जा चुका है। लेकिन अभी तक कोई ठोस निर्णय नहीं लिया गया है।

इस अवसर पर आईएमए जिलाध्यक्ष डॉ. एसपी शर्मा, उपाध्यक्ष डॉ. अरविंद कुमार, डॉ. शंभुनाथ चौधरी, डॉ. सुनील कुमार भगत, डॉ. श्रवण कुमार, डॉ. शोभना, डॉ. प्रियंका, डॉ. सीमा रानी सहित अन्य मौजूद रहे।

लातेहार में डॉक्टर हड़ताल