Breaking :
||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री||JPSC पीटी के मॉडल आंसर को चुनौती देने वाली याचिका हाईकोर्ट में खारिज, परीक्षा का रास्ता साफ||लातेहार: सेरेगड़ा पंचायत सेवक अर्जुन राम रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||झारखंड में चार DSP की ट्रांसफर-पोस्टिंग, समीर कुमार सवैया बने किस्को के DSP||झारखंड कैबिनेट का फैसला, सरकार करायेगी जातिगत गणना, विधायकों का वेतन भत्ता बढ़ा, रिटायर्ड कर्मचारियों को भी मिलेगी प्रमोशन||झारखंड को नशामुक्त राज्य बनाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध, हर किसी की सहभागिता जरूरी : मुख्यमंत्री||वन भूमि से कब्जा हटाने गयी टीम पर ग्रामीणों का हमला, पत्थरबाजी में वन क्षेत्र पदाधिकारी समेत एक दर्जन घायल||झारखंड में इस तारीख को मानसून की एंट्री, बारिश और वज्रपात का अलर्ट||लातेहार: दो बाइकों की टक्कर में मामा-भांजा समेत चार घायल समेत बालूमाथ की दो खबरें||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिस
Thursday, June 20, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: चिकित्सकों के कार्य बहिष्कार से स्वास्थ्य सेवायें ठप, मरीज हलकान

लातेहार में डॉक्टर हड़ताल पर

लातेहार : राज्य में लगातार हो रहे चिकित्सकों पर हमले के विरोध में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) व झारखंड स्वास्थ्य सेवा संघ (झासा) के संयुक्त आह्वान पर जिले के सरकारी व निजी अस्पतालों के चिकित्सकों ने बुधवार को स्वास्थ्य सेवाओं को ठप कर दिया है।

हालांकि, इमरजेंसी सेवा और अस्पताल में भर्ती मरीजों के इलाज को हड़ताल से बाहर रखा गया है। यह कार्य बहिष्कार गुरुवार की सुबह छह बजे तक रहेगी। हड़ताल का मुख्य उद्देश्य चिकित्सकों को सुरक्षा प्रदान करना है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मौके पर जिला मुख्यालय के सभी चिकित्सक सदर अस्पताल स्थित उपाधीक्षक कार्यालय में एकत्रित हुए। इस दौरान चिकित्सकों ने सुरक्षा की मांग की और चिकित्सकों पर हुए हमलों पर विरोध जताया।

इधर, इस हड़ताल के दौरान आपातकालीन सेवा को छोड़कर अन्य कार्य पूरी तरह से बाधित रहे। ओपीडी में मरीजों का इलाज नहीं होने से मरीजों की भीड़ से सदर अस्पताल में अफरातफरी मच गयी। इस दौरान ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले मरीजों का सामान्य दिनों की तरह इलाज नहीं हो सका। कई मरीज बिना इलाज कराये ही वापस लौट गये तो कई मरीज डॉक्टरों से इलाज की गुहार लगाते नजर आये।

इस अवसर पर झासा अध्यक्ष सिविल सर्जन डॉ. दिनेश कुमार ने कहा कि पिछले 15 दिनों में प्रदेश के विभिन्न जिलों में डॉक्टरों पर हमले के आधा दर्जन मामले सामने आ चुके हैं। लेकिन चिकित्सकों की सुरक्षा को लेकर सरकार के द्वारा अब तक कोई कदम नहीं उठाये गये।

आईएमए पलामू प्रमंडल के संयुक्त सचिव डॉ. एसके सिंह ने कहा कि डॉक्टरों पर जानलेवा हमले व मारपीट के विरोध में हम सभी डॉक्टरों ने एक दिन की सांकेतिक हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि डॉक्टरों की सुरक्षा व अन्य मांगों को लेकर पूर्व में भी मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा जा चुका है। लेकिन अभी तक कोई ठोस निर्णय नहीं लिया गया है।

इस अवसर पर आईएमए जिलाध्यक्ष डॉ. एसपी शर्मा, उपाध्यक्ष डॉ. अरविंद कुमार, डॉ. शंभुनाथ चौधरी, डॉ. सुनील कुमार भगत, डॉ. श्रवण कुमार, डॉ. शोभना, डॉ. प्रियंका, डॉ. सीमा रानी सहित अन्य मौजूद रहे।

लातेहार में डॉक्टर हड़ताल