Breaking :
||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस||पलामू: कोयला से भरा ट्रक और बीड़ी पत्ता लदा ऑटो जब्त, पांच गिरफ्तार, दो लातेहार के निवासी||लातेहार: नहाने के दौरान तालाब में डूबने से दस वर्षीय बच्चे की मौत, शव की तलाश में जुटे ग्रामीण
Thursday, June 13, 2024
पलामूपलामू प्रमंडल

पलामू में भू-अर्जन कार्यालय का हेड क्लर्क 12 हजार रिश्वत लेते गिरफ्तार

पलामू : भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की पलामू इकाई ने विशेष भू-अर्जन कार्यालय में शुक्रवार को प्रधान लिपिक टुनटुन कुमार उपाध्याय को 12 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। प्रधान लिपिक भूमि अधिग्रहण मुआवजा के भुगतान के लिए फाइल आगे बढ़ाने के एवज में रिश्वत ले रहा था।

भू-अर्जन कार्यालय से प्रधान लिपिक को गिरफ्तार करने के बाद एसीबी की टीम उसके आवास पर भी गई और वहां छानबीन की। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो पलामू के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पाटन प्रखंड के किशुनपुर के ग्राम इमली के रहने वाले सुनील सिंह की 1.04 एकड़ भूमि सिंचाई विभाग विशेष भू-अर्जन द्वारा बरकुड़वा वितरणी नहर में अधिग्रहण की गयी है लेकिन अभी तक मुआवजा भुगतान नहीं किया गया है।

भुगतान फाइल आगे बढ़ाने के लिए विशेष भू-अर्जन कार्यालय के प्रधान लिपिक टुनटुन उपाध्याय 12 हजार रुपये रिश्वत मांग रहा था। सुनील के लिखित आवेदन एवं सत्यापन प्रतिवेदन के आधार पर मामला दर्ज कर रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया। टुनटुन उपाध्याय फिलहाल बारालोटा में रहता है लेकिन उसका घर बिहार में है।