Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Friday, April 19, 2024
गारूपलामू प्रमंडललातेहार

पलामू टाइगर रिजर्व: गारू का जयगीर पहाड़ बेटे-बेटियों की शादी के लिए बना अभिशाप

Palamu Tiger Reserve News

पलामू : पलामू टाइगर रिजर्व झारखंड का इकलौता बाघ आरक्ष्य है, जिसे देखने के लिए दूर दूर से लोग आते हैं। लेकिन वनों से अच्छादित इस क्षेत्र में कई ऐसे गांव हैं, जो किसी अभिशाप की तरह हैं। पहाड़ी क्षेत्र जयगीर पहाड़ की कुछ ऐसी की स्थिति है। पलामू टाइगर रिजर्व के गारू पूर्वी रेंज में यह स्थित है। यहां पर 17 घर है। यहां बिरजिया, उरांव, लोहरा समुदाय के लोग रहते हैं। इनकी कुल आबादी 55 है। यहां यह वर्षों से रहते आ रहे हैं।

जयगीर पहाड़ के रहने वालों की एक अजीबो गरीब परेशानी है। परेशानी है ना वर मिलता है ना वधू। कोई भी लड़की वाले अपनी लड़की को पहाड़ पर रहने वाले किसी लड़के से शादी कराना नहीं चाहते हैं। लड़की वालों को कहना है कि उनकी लड़की इस तरह के पहाड़ी जीवन की आदि नहीं है, उसे दिक्कत आयेगी और इसी वजह से लड़की वाले जयगीर पहाड़ के लड़के से शादी से मना कर देते हैं। ठीक इसी तरह की बात जयगीर पहाड़ पर रह रहे शादी योग्य लड़कों की है। लड़की खोजते हैं पर उन्हें प्लेन भूमि पर ऐसा परिवार नहीं मिलता।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इस पहाड़ पर रहने वाले सुरेंद्र उरांव ( 27) से बात की गयी तो उन्होंने बताया कि इसी साल उसकी छोटी बहन मीना कुमारी की शादी की बातचीत गारू के दीपक उरांव से चल रही थी। दीपक उरांव के परिवार ने यह कहते हुए शादी से मना कर दिया कि उनका लड़का पहाड़ी जीवन नहीं बितायेगा।

सुरेंद्र उरांव ने कहा कि वह बहुत परेशान है अपनी बहन के रिश्ते को ढूंढने के लिये। उन्हें इस बात की चिंता है कि उनका जयगीर पहाड़ पर रहना, उनकी बहन की शादी की बातचीत में एक बाधक बन रहा है।

धानु लोहरा ( 27) ने कहा कि उनके जयगीर पहाड़ पर पीने के पानी की किल्लत रहती है। वह कहते हैं बाराती को कुछ मिले या ना मिले पर पीने का पानी तो मिलना ही चाहिए। वह बहुत अफसोस के साथ कहते हैं वे लोग एक नारकीय जीवन जी रहे हैं जयगीर पहाड़ पर। प्रेमचंद्र बृजया ( 45) जयगीर पहाड़ के एक दूसरे निवासी हैं। उन्होंने बताया कि शादी ब्याह की बात तो दूर हमें अपने त्योहार कर्मा, सरहुल मनाने में भी बहुत तकलीफ होती है। परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

पलामू टाइगर रिजर्व दक्षिणी प्रमंडल के उप निदेशक कुमार आशीष ने बताया कि जयगीर पहाड़ के निवासी स्वयं यहां से हटना चाहते हैं। यह लोग अपने पुनर्वास के लिए किसी समतल जमीन की मांग करते हैं, जो सड़क के किनारे हो।

आशीष ने बताया कि जयगीर पहाड़ के निवासियों को ग्रामसभा करनी होगी, जिसमें उन्हें एक मत से अपने पुनर्वास की बात को कहनी होगी। यह ग्राम सभा का निर्णय होगा, जो एक मत का होना जरूरी है। कुमार आशीष ने यह भी कहा जो लोग स्वेच्छा से ग्राम सभा के अनुमोदन के बाद जयगीर पहाड़ छोड़कर दूसरी जगह बसना चाहते हैं उन्हें पलामू टाइगर रिजर्व से अलग बसाया जायेगा।

Palamu Tiger Reserve News