Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: श्रीरामचरित मानस नवाह्न परायण पाठ महायज्ञ के स्वर्ण जयंती समारोह पर निकली भव्य कलश यात्रा, सैकड़ों लोग हुए शामिल

लातेहार : श्री रामचरित मानस नवाह्न पारायण पाठ महायज्ञ के 50वें अधिवेशन (स्वर्ण जयंती समारोह) को लेकर शनिवार को शहर के अंबाकोठी से भव्य कलश यात्रा निकाली गयी। कलश यात्रा नगर भ्रमण के बाद चटनाही स्थित औरंगा नदी तट पहुंची। यहां वैदिक मंत्रोच्चार के बीच घड़ों में जल भरा गया। इसके बाद कलश यात्रा पुन: अंबाकोठी यज्ञ स्थल पर पहुंच कर समाप्त हुई।

इस दौरान बड़ी संख्या में महिलाएं व युवतियां गाजे-बाजे के साथ कलश यात्रा में शामिल हुईं। कलश यात्रा में महायज्ञ समिति के संरक्षक सह विधायक बैद्यनाथ राम के अलावा समिति के सभी पदाधिकारी शामिल हुए।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मौके पर विधायक ने कहा कि श्री राम चरितमानस नवाह्न पारायण महायज्ञ समिति का 50वां अधिवेशन इस वर्ष मनाया जा रहा है। महायज्ञ का 50वां अधिवेशन स्वर्ण जयंती वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है। इसे ऐतिहासिक बनाने को लेकर महायज्ञ समिति के सदस्य समेत शहरवासी तन, मन और धन से लगे हुए हैं। महायज्ञ स्थल पर हर दिन विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे।

मीडिया प्रवक्ता ने बताया कि शारदीय नवरात्रि की पहली तिथि को कलश स्थापित कर पूजा शुरू की जायेगी। नवमी तिथि तक प्रतिदिन सुबह 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक श्री रामचरित मानस का पाठ किया जायेगा। शाम 6:30 से 8 बजे तक आरती व कीर्तन का आयोजन होगा। रात 8.30 बजे से मथुरा की वन धार्मिक रामलीला मंडली द्वारा रामलीला का मंचन किया जायेग़ा। 24 अक्टूबर को दशमी तिथि पर पूर्णाहुति, हवन, महाप्रसाद का वितरण एवं प्रतिमाओं का विसर्जन किया जायेगा।

उन्होंने इन सभी कार्यक्रमों में जिले वासियों से सपरिवार शामिल होकर पुण्य के भागी बनने की अपील की है। बता दें कि इस वर्ष श्री रामचरित मानस नवाह्न पारायण पाठ महायज्ञ स्वर्ण जयंती वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है।

Latehar Navahana Parayan Paath Mahayagya