Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

गढ़वा: चुनाव कराकर लौट रही पोलिंग पार्टी पर ग्रामीणों ने किया हमला, जवान के हथियार लूटे व पीटा

गढ़वा : जिले के मेराल में ग्रामीणों ने एक मतदान दल पर हमला किया, एक जवान की न सिर्फ पिटाई की, बल्कि उसका हथियार भी लूट लिया और करीब एक घंटे तक उसे बंधक बनाकर रखा। बाद में पुलिस के पहुंचने पर उसे छोड़ दिया गया। इस मामले में पुलिस आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

जानकारी के अनुसार मेराल प्रखंड के गांव कमरमा के सेक्टर 10 से चुनाव कराकर एक मतदान दल के पदाधिकारी निजी वाहन में बैलेट बॉक्स लेकर गढ़वा लौट रहे थे। इस दौरान ग्रामीणों को उन पर शक हुआ और उन्होंने इसका विरोध करना शुरू कर दिया। देखते ही देखते ग्रामीण भड़क गए और मतपेटी को सुरक्षित रखने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे पुलिस कर्मी बेंकटेश शर्मा को घेर लिया। इस दौरान लोगों ने उसका हथियार भी छीन लिया और उसकी पिटाई कर दी।

advt

करीब एक घंटे तक ग्रामीणों ने उसे बंधक बनाकर रखा। इस दौरान युवक प्यास से परेशान हो गया। लेकिन गांव वाले उसे पानी पीने से रोकते रहे। इसकी सूचना मिलते ही मेराल थाना प्रभारी लालबिहारी प्रसाद दलबल सहित मौके पर पहुंचे। उन्होंने जवान को ग्रामीणों से मुक्त कराया और उसका हथियार बरामद किया।

पलामू प्रमंडल की ताज़ा ख़बरें यहाँ पढ़ें

थाना प्रभारी ने मारपीट के आरोपित आधा दर्जन युवकों को हिरासत में भी लिया है। इस घटना को एसपी अंजनी कुमार झा ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने इस संबंध में पुलिस अधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिए हैं। बताया जा रहा है कि ग्रामीणों को अंदेशा था कि चुनाव के बाद मतपेटी में धांधली हो जाएगी। इसी के चलते घटना हुई है।