Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

गढ़वा: भूत भगाने के नाम पर मौसा ने रिश्ते को किया शर्मसार, लड़की के साथ किया गंदा काम

गढ़वा : महिलाएं अक्सर भूत-प्रेत के नाम पर ओझा-गुणी की हवस का शिकार हो जाती हैं। लेकिन अभी भी लोगों में इसको लेकर जागरूकता की कमी है।

ऐसा ही मामला भवनाथपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में हुआ है, जहां इलाज के बहाने एक युवती को उसके मौसा ने झाड़फूंक के बहाने हवस का शिकार बनाया। लगातार धमकियों और रेप से तंग आकर पीड़िता ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

इस मामले को लेकर मृतक बच्ची के पिता ने सोमवार को भवनाथपुर थाने में मामला दर्ज कराया है. प्राथमिकी के लिए दिए गए आवेदन में मृतक बच्ची के पिता ने अपने साढू भवनाथपुर थाना क्षेत्र के झगड़ाखांड़ गांव निवासी प्रयाग राम के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

अर्जी में कहा गया है कि 18 वर्षीया पुत्री की कुछ माह से तबीयत खराब चल रहा था। कथित ओझा गुणी का काम करने वाले युवती के मौसा झगड़ाखांड़ निवासी प्रयाग राम झाड़ फूंक के लिए युवती को अपने घर ले गए।

बताया गया कि 4 मई को प्रयाग राम पीड़िता को अपने घर ले गया। तब पीड़िता ने अपनी मां को मौसा की हरकत बताई। साथ ही यह भी कहा गया कि प्रयाग राम ने किसी को रेप के बारे में बताने पर भूत-प्रेत का इस्तेमाल कर पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी है। लेकिन सारा मामला जानने के बाद भी पीड़िता के परिजन समाज की शर्म के डर से खामोश रहे।

बताया गया कि 14 मई को गांव में एक शादी में आया प्रयाग राम पीड़िता के घर गया और उसे फिर धमकाया। इससे तंग आकर पीड़िता ने रविवार सुबह फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतका के पिता के अनुसार उस समय वह घर में अकेली थी। परिवार के अन्य सदस्य जंगल में केंदू का पता तोड़ने गए थे।

इधर, मृतक के पिता के आवेदन के आलोक में भवनाथपुर थाना पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।