Breaking :
||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला||पलामू: तत्कालीन एसपी के फर्जी हस्ताक्षर से बने 12 चरित्र प्रमाण पत्र, बड़ा गिरोह सक्रिय||ED की टीम फिर पहुंची आलमगीर आलम के पीएस संजीव लाल के नौकर जहांगीर के घर||झारखंड: ज्वैलर्स शोरूम से दो लाख रुपये नकद समेत 50 लाख के आभूषण की लूट||निशिकांत दुबे के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत||लातेहार: चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने वाले 9 कर्मियों पर प्राथमिकी दर्ज||बंगाल की खाड़ी में बन रहे लो प्रेशर का झारखंड में असर, ऑरेंज अलर्ट जारी, झमाझम बारिश से लोगों को गर्मी से मिली राहत||जेठानी ने देवरानी पर लगाये गंभीर आरोप, कहा- कल्पना सोरेन के इशारे पर मेरी दोनों बेटियों को मारने की थी कोशिश||गढ़वा: JJMP जोनल कमांडर के नाम पर पूर्व विधायक सत्येंद्र नाथ तिवारी को धमकी||छत्तीसगढ़ में पुलिस के साथ मुठभेड़ में फिर मारे गये सात नक्सली
Saturday, May 25, 2024
पलामू प्रमंडलबालूमाथलातेहार

VPR कंपनी द्वारा कोलियरी में काम कर रहे चालक व मजदूरों को हटाने पर रोष, आंदोलन की चेतावनी

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

लातेहार : सीसीएल की मगध संघमित्रा एरिया द्वारा संचालित आरा चमातु कोलियरी में आउटसोर्सिंग का काम कर रही वीपीआर कंपनी में कार्यरत कई वाहनों के चालक और मजदूरों को हटा दिए जाने से उनके बीच आज रोष का माहौल देखा गया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

आज आरा ग्राम स्थित फुटबॉल ग्राउंड में बैठक कर वीपीआर कंपनी के प्रति विरोध जताया और कहा कि इस क्षेत्र में कंपनी काम कर रही है और स्थानीय कार्यरत लोगों को बाहर निकाला जा रहा है, जो कंपनी के नियमों के खिलाफ है।

इस संबंध में कार्य से बाहर किए गए लोगों ने बताया कि 75% स्थानीय लोगों को कार्य में रखना अनिवार्य है। लेकिन बिना कारण बताए करीब 50 चालक और कर्मियों को कंपनी द्वारा हटा दिया गया। जिसे लेकर आज शुक्रवार को हटाए गए कर्मियों की बैठक हुई। कंपनी के प्रति रोष व्यक्त करते हुए लोगों ने कहा कि अगर हमें जल्द कार्य में नहीं रखा गया तो आने वाले दिनों में हम सभी प्रदर्शन करने को बाध्य होंगे।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इस बैठक में मुख्य रूप से पवन कुमार पांडे, जोधन राम, धीरेंद्र कुमार, जनक कुमार साहू, मुकेश कुमार साहू, कृष्णा कुमार साह, बसंत कुमार, गंगाजल करमाली, कुल्लू उरांव, मनोज कुमार, बसंत साव, अरुण उरांव, सुरेंद्र उरांव, प्रमोद कुमार समेत काफी संख्या में लोग मौजूद रहे।

बैठक में कहा गया कि अगर 2 दिनों के भीतर कंपनी द्वारा कोई ठोस निर्णय नहीं ली जाती है तो आगामी 4 सितंबर को दुर्गा मंडप परिसर में एक वृहद बैठक की जाएगी और कंपनी के विरुद्ध बिगुल फूंका जाएगा।