Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

VPR कंपनी द्वारा कोलियरी में काम कर रहे चालक व मजदूरों को हटाने पर रोष, आंदोलन की चेतावनी

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

लातेहार : सीसीएल की मगध संघमित्रा एरिया द्वारा संचालित आरा चमातु कोलियरी में आउटसोर्सिंग का काम कर रही वीपीआर कंपनी में कार्यरत कई वाहनों के चालक और मजदूरों को हटा दिए जाने से उनके बीच आज रोष का माहौल देखा गया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

आज आरा ग्राम स्थित फुटबॉल ग्राउंड में बैठक कर वीपीआर कंपनी के प्रति विरोध जताया और कहा कि इस क्षेत्र में कंपनी काम कर रही है और स्थानीय कार्यरत लोगों को बाहर निकाला जा रहा है, जो कंपनी के नियमों के खिलाफ है।

इस संबंध में कार्य से बाहर किए गए लोगों ने बताया कि 75% स्थानीय लोगों को कार्य में रखना अनिवार्य है। लेकिन बिना कारण बताए करीब 50 चालक और कर्मियों को कंपनी द्वारा हटा दिया गया। जिसे लेकर आज शुक्रवार को हटाए गए कर्मियों की बैठक हुई। कंपनी के प्रति रोष व्यक्त करते हुए लोगों ने कहा कि अगर हमें जल्द कार्य में नहीं रखा गया तो आने वाले दिनों में हम सभी प्रदर्शन करने को बाध्य होंगे।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इस बैठक में मुख्य रूप से पवन कुमार पांडे, जोधन राम, धीरेंद्र कुमार, जनक कुमार साहू, मुकेश कुमार साहू, कृष्णा कुमार साह, बसंत कुमार, गंगाजल करमाली, कुल्लू उरांव, मनोज कुमार, बसंत साव, अरुण उरांव, सुरेंद्र उरांव, प्रमोद कुमार समेत काफी संख्या में लोग मौजूद रहे।

बैठक में कहा गया कि अगर 2 दिनों के भीतर कंपनी द्वारा कोई ठोस निर्णय नहीं ली जाती है तो आगामी 4 सितंबर को दुर्गा मंडप परिसर में एक वृहद बैठक की जाएगी और कंपनी के विरुद्ध बिगुल फूंका जाएगा।