Breaking :
||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री||JPSC पीटी के मॉडल आंसर को चुनौती देने वाली याचिका हाईकोर्ट में खारिज, परीक्षा का रास्ता साफ||लातेहार: सेरेगड़ा पंचायत सेवक अर्जुन राम रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||झारखंड में चार DSP की ट्रांसफर-पोस्टिंग, समीर कुमार सवैया बने किस्को के DSP||झारखंड कैबिनेट का फैसला, सरकार करायेगी जातिगत गणना, विधायकों का वेतन भत्ता बढ़ा, रिटायर्ड कर्मचारियों को भी मिलेगी प्रमोशन||झारखंड को नशामुक्त राज्य बनाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध, हर किसी की सहभागिता जरूरी : मुख्यमंत्री
Friday, June 21, 2024
पलामू प्रमंडलबालूमाथलातेहार

लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित हाइवा की टक्कर से बिजली का पोल क्षतिग्रस्त, आक्रोशित ग्रामीणों ने किया सड़क जाम

लातेहार : बुधवार को बालूमाथ-पांकी पथ पर झाबर गांव स्थित बस स्टैंड के पास कोयला लदे अनियंत्रित हाइवा वाहन ने बिजली के पोल को क्षतिग्रस्त कर दिया। जिससे गांव में लगा ट्रांसफार्मर शार्ट हो गया और तार आदि भी जलकर राख हो गये। हालांकि इस दौरान कई ग्रामीणों ने भागकर अपनी जान बचायी।

Balumath Road Jam News
Balumath Road Jam News

इस घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने सुबह 6:00 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक मुख्य सड़क को जाम कर दिया और मांग की कि इस रास्ते से कोयला परिवहन नहीं किया जाये, वाहनों को नियंत्रण के साथ धीमी गति से चलाया जाये, स्कूल समय में नो एंट्री लगाने की मांग की।

ग्रामीणों ने बताया कि पंचायत क्षेत्र के कई विद्यालय मुख्य सड़क के किनारे स्थित हैं तथा कई हाइवा वाहनों की तेज गति के कारण आये दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं, जिससे लोगों की जान-माल का खतरा हमेशा बना रहता है।

इधर, जाम की सूचना पर कोयला ट्रांसपोर्टिंग करने वाली कंपनी के अधिकारी जाम स्थल पर पहुंचे और ग्रामीणों से बातचीत करते हुए उनकी सभी मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया। लेकिन ग्रामीणों ने क्षतिग्रस्त पोल के साथ-साथ बिजली से संबंधित नुकसान का मुआवजा देने की मांग की। जिस पर कंपनी से जुड़े लोगों ने तुरंत इसे गंभीरता से लिया और चार-पांच घंटे के अंदर नये बिजली के खंभे लगवाये और जर्जर तार को बदलवाया, तब जाकर ग्रामीणों द्वारा लगाया गया जाम हटा। इस दौरान बालूमाथ थाने की पुलिस भी पहुंची और ग्रामीणों को शांत कराया और जाम हटाया।

मालूम हो कि बालूमाथ थाना क्षेत्र में कोयला परिवहन में लगे हाइवा वाहनों से सड़क दुर्घटनाओं की संख्या बढ़ गयी है। हाल के दिनों में बालूमाथ पांकी रोड पर दो लोगों की जान जा चुकी है, जबकि पिछले सप्ताह झाबर गांव में दो हाइवा वाहनों के बीच टक्कर हो गयी थी जिसमें एक यात्री गंभीर रूप से घायल हो गया और सड़क किनारे रहने वाले लोग बाल-बाल बच गये थे। इस मार्ग पर चलने वाले राहगीरों का मानना है कि वे जान जोखिम में डालकर यात्रा कर रहे हैं। यदि यही स्थिति रही तो कभी भी किसी बड़ी घटना से इनकार नहीं किया जा सकता।

Balumath Road Jam News