Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: DMFT ट्रस्ट काउंसिल की बैठक में विभिन्न प्रस्तावों को मिली मंजूरी

जिला खनिज फाउंडेशन ट्रस्ट (डीएमएफटी) न्यास परिषद की बैठक संपन्न

लातेहार : शुक्रवार को समाहरणालय सभागार में उपायुक्त सह अध्यक्ष डीएमएफटी हिमांशु मोहन की अध्यक्षता में स्थानीय विधायक बैद्यनाथ राम, मनिका विधायक रामचन्द्र सिंह की उपस्थिति में जिला खनिज फाउंडेशन ट्रस्ट (डीएमएफटी) न्यास परिषद की बैठक आयोजित की गयी। बैठक के दौरान न्यास परिषद के सदस्यों के समक्ष बैठक का एजेंडा क्रमवार प्रस्तुत किया गया।

बैठक में प्रभारी पदाधिकारी डीएमएफटी जितेन्द्र कुमार गुप्ता ने न्यास परिषद से अनुमोदन हेतु विभिन्न योजनाओं के संबंध में सभी को विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वर्तमान में डीएमएफटी मद में उपलब्ध राशि को खनन से प्रभावित क्षेत्रों के विकास के लिए व्यय किया जाना है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

आगे उन्होने जानकारी देते हुए बताया कि उच्च प्राथमिकताओं में प्रखंड के सभी चिन्हित विद्यालय में विद्युत आपूर्ति को सुदृढ़ करने के लिए सोलर की व्यवस्था, विद्यालयों में वज्रपात से बचाव के लिए तड़ित चालक का अधिष्ठापन, वाटर प्यूरिफायर, सीसीटीवी, लाइब्रेरी, कंप्यूटर लैब, ऑडिटोरियम का निर्माण एवं अधिष्ठापन, विद्यालय में शिक्षकों की भर्ती, भवन मरम्मती, चहारदीवारी, सैनिटरी पैड डिस्पेंसर एवं भस्मक लगाने के लिए एवं खेल मैदान का निर्माण, हाथी प्रभावित क्षेत्रो में आपातकालीन आश्रय गृह, प्लास्टिक रीसाइक्लिंग यूनिट, स्वास्थ्य केंद्र व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों की मरम्मती, चहारदीवारी, ट्रॉमा सेंटर निर्माण, इलेक्ट्रिक गार्बेज वाहन, इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्जिंग स्टेशन निर्माण इत्यादि प्रस्तावित है।

बैठक के दौरान विभिन्न योजनाएं जो डीएमएफटी के प्रबंधकीय समिति से अनुमोदित हैं उन पर न्यास परिषद से अनुमोदन हेतु योजनाओं पर विधायक गण, उपायुक्त एवं जनप्रतिनिधियों द्वारा चर्चा के क्रम में महत्वपूर्ण निर्णय लिए गये। वहीं बैठक में विभिन्न क्षेत्रों के जनप्रतिनिधियों ने भी विभिन्न योजनाओं एवं विकास कार्यों की मांग को सभी के समक्ष रखा।

इस दौरान उपायुक्त ने सभी सदस्यों को सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देश, डीएमएफटी के तहत उपलब्ध राशि की खर्च करने, कौन-कौन सी योजनाओं को लिया जा सकता हैं, उसकी जानकारी दी।

उपायुक्त ने कहा कि डीएमएफटी की राशि का खर्च खनन से प्रभावित पंचायत क्षेत्रों (प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित हो रहा है ) में किया जाना है। इसके लिए ग्राम सभा के माध्यम से योजनाओं का चयन किया जाता है। चयन के समय उच्च एवं निम्न प्राथमिकताओं का ध्यान रखना है।

उपायुक्त ने उच्च प्राथमिकताओं में स्वास्थ्य, शिक्षा, वृद्ध-दिव्यांग, कौशल विकास, स्वच्छता आदि से संबंधित योजनाओं एवं निम्न प्राथमिकता में आधारभूत संरचना, सड़क, पुल व पुलिया, सिंचाई आदि से संबंधित योजनाओं को लेने की बात कही।

बैठक के दौरान डीएमएफटी से पूर्व में स्वीकृत योजनाओं के क्रियान्यवयन में प्रगति, डीएमएफटी के अंतर्गत ली गयी योजनाएं, डीएमएफटी अंतर्गत ली जाने वाली नयी योजनाओं के अनुमोदन आदि पर विस्तार से चर्चा की गयी।

बैठक में स्वास्थ्य केंद्र व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों की मरम्मती, चहारदीवारी, रोड निर्माण, ट्रॉमा सेंटर निर्माण, आंगनबाड़ी मरम्मती और निर्माण, स्कूल के चहारदीवारी निर्माण, लाइब्रेरी निर्माण, कौशल विकास, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों की चहारदीवारी आदि से संबंधित प्राप्त प्रस्तावों को सर्व सहमति से अनुमोदित किया गया।

इस दौरान विधायक बैद्यनाथ राम एवं विधायक रामचंद्र सिंह ने बैठक में कहा कि डीएमएफटी की राशि से क्रियान्वित की जा रही वैसी योजनाएं जो पूर्ण कर ली गयी है, उनका जाँच के उपरांत भुगतान किया जाये।

बैठक में पुलिस अधीक्षक अंजनी अंजन, वन प्रमंडल पदाधिकारी रोशन कुमार, उप विकास आयुक्त आलोक शिकारी कच्छप, जिला परिषद अध्यक्ष पूनम देवी, सांसद चतरा के प्रतिनिधि विनीत मधुकर, जिला खनन पदाधिकारी आनंद कुमार, जिला स्तरीय पदाधिकारी एवं खनन प्रभावित प्रखंडो के प्रमुख, उप प्रमुख व मुखिया उपस्थित थे।

Latehar Latest News Today