Breaking :
||रांची में बाइक सवार बदमाशों ने पति-पत्नी को मारी गोली, दोनों की मौत||TSPC के जोनल कमांडर ने किया बड़ा खुलासा, झारखंड में हिंसा फैलाने के लिए खरीद रहा था विदेशी हथियार||भारत-इंग्लैंड टेस्ट मैच को लेकर बल्लेबाज शुबमन गिल ने पत्रकारों से कहा- रांची में ही सीरीज जीतने के लिए हम तैयार||पलामू: बच्चों को आशीर्वाद देने निकले किन्नरों से मारपीट, आक्रोश||झारखंड: प्रेमी ने शादी से किया इंकार तो प्रेमिका ने दे दी जान||गढ़वा: JJMP के उग्रवादियों ने पुल निर्माण स्थल पर मचाया उत्पात, मशीनों में की तोड़फोड़, मजदूरों से मारपीट||झारखंड विधानसभा का बजट सत्र 23 फरवरी से, स्पीकर ने की उच्च स्तरीय बैठक||विधायक भानु प्रताप शाही एससी-एसटी एक्ट में बरी, चार लोगों को छह-छह माह कारावास की सजा||रांची पहुंची भारत और इंग्लैंड की टीमें, पारंपरिक अंदाज में हुआ स्वागत||लातेहार: ईंट भट्ठा पर फायरिंग कर अपराधियों ने फैलायी दहशत, कर्मियों को पीटा, संचालक को दी चेतावनी
Thursday, February 22, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: फैमिली जज और अधिवक्ताओं के प्रयास से एक जोड़े का रुका तलाक, पति ने केस लिया वापस

लातेहार : प्रधान न्यायधीश कुटुंब न्यायालय लातेहार राजीव आनंद के प्रयास से एक तलाक का मुकदमा वापस हो गया। मालूम हो जिले के गारू थाना क्षेत्र निवासी राजीव कुमार ने अपनी पत्नी जूही कुमारी के खिलाफ तलाक का मुकदमा दायर कराया था।

पति राजीव कुमार के अधिवक्ता सुनील कुमार व गारू के वरीय पत्रकार कृष्णा गुप्ता प्रारंभ से ही सुलह कराने का प्रयास करते रहे हैं। पिछले दिनों प्रधान जज कुटुंब न्यायालय राजीव आनंद ने मामले को मध्यस्थता के लिए मध्यस्थ केंद्र लातेहार भेजा। जहां जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव स्वाति विजय उपाध्याय एवं मध्यस्थ वरीय अधिवक्ता संजय कुमार ने काफी प्रयास किया।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

पहले फेज में मध्यस्था असफल रहा और वापस न्यायालय में वाद आ गया। पुनः वादी के अधिवक्ता सुनील कुमार ने इस मामला को आगे बढ़ाते हुए दोनों पक्षकारों से मिलजुल कर रहने का अनुरोध किया। दोनों के बीच से उत्पन्न छोटी बच्ची की जिंदगी सवारने की अपील की।

इधर पत्नी के अधिवक्ता धीरेंद्र कुमार शुक्ला ने बढ़-चढ़कर उसे समझाने का प्रयास किया। लगभग एक माह की अवधि में दोनों पक्षों ने मुकदमा समाप्त कराने का घोषणा किया और मंगलवार को फैमिली जज श्री आनंद की अदालत में उपस्थित होकर पति राजीव कुमार ने मामला को समाप्त करने का अनुरोध किया। दोनों पक्षों की ओर से सुलहनामा दाखिल होते ही अदालत ने इस मामले को समाप्त कर दिया। दोनों पक्ष खुशी-खुशी अपने घर को गये। पति पत्नी के बीच पिछले दो वर्षों से कई मुकदमे दायर हो चुके थे।

आज राहत की सांस ली

पति-पत्नी दोनों ने कहा कि उन्हें आज शांति महसूस हो रही है। बेकार में अपना कीमती समय बर्बाद कर रहे थे। प्रधान जज श्री आनंद, वरीय अधिवक्ता सुनील कुमार, धीरेंद्र कुमार शुक्ला को बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि उनके प्रयास से लंबी एवं जटिल मुकदमेबाजी से उन्हें निजात मिली है।