Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

भाजपा अजजा मोर्चा के जिलाध्यक्ष ने श्राद्ध कर्म के लिए चावल देकर की आश्रितों की मदद

गोपी कुमार सिंह/गारू

लातेहार : ज़िले के गारू प्रखण्ड अंतर्गत कोटाम पंचायत के कोटाम नीवासी रूपचंद सिंह का विगत पांच तारीख को ठंड के कारण मौत हो गयी थी। जिसे लातेहार जिले के भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के जिला अध्यक्ष मंगल उरांव ने मृतक रूपचंद सिंह के आश्रितों को चावल देकर मदद किया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बता दें की कोटाम निवासी रूपचंद सिंह बुधवार को गारू प्रखंड मुख्यालय में साप्ताहिक हाट बाजार में बाजार करने के लिए गए हुए थे। उस वक्त कड़ाके की ठंड और शीतलहरी चरम सीमा पर थी। रूपचंद सिंह को बाजार से लौटने में शाम हो गयी था। घर पहुँचाने तक ठंड के कारण उनकी तबियत बिगड़ चुकी थी। रात तक तबियत और भी बिगड़ गयी। जिसे सुबह बेहतर इलाज के लिए परिजनों द्वारा अस्पताल ले जाया गया था। जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। लेकिन मृतक रूपचंद सिंह के बारे में किसी ने सुध नहीं ली।

जब इसकी जानकारी भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के जिला अध्यक्ष मंगल उरांव को मिली तो वे फौरन परिजनों को मदद करने के लिए चावल बोरा खुद अपने निजी वाहन से उठा कर पहुंच गए।

इस संबंध में भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के जिला अध्यक्ष मंगल उरांव ने बताया की लातेहार जिला क्षेत्र के अंतर्गत किसी आदिवासी समाज के साथ में किसी भी तरीके से कोई समस्या या परेशानी होती है तो मैं अपने खर्चे से मदद करने के लिए हमेशा खड़ा हूं। उनलोगों को उचित मुवावजे मिलने तक लड़ाई लड़ता रहूंगा।