Breaking :
||झारखंड में भीषण गर्मी से मिलेगी राहत, 20 जून तक मानसून करेगा प्रवेश||पलामू: बालिका गृह में दुष्कर्म पीड़िता की बहन की मौत, मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में हुआ पोस्टमार्टम||सतबरवा प्रखंड के रैयतों ने सांसद से की मुलाकात, उचित मुआवजा दिलाने की मांग||पलामू में तीन अलग-अलग सड़क हादसों में तीन की मौत, नेतरहाट घूमने जा रहा एक पर्यटक भी शामिल||केंद्रीय मंत्री शिवराज व असम के मुख्यमंत्री हिमंता झारखंड विधान सभा चुनाव में भाजपा का करेंगे बेड़ापार||झारखंड में पांच नक्सली ढेर, एक महिला नक्सली समेत दो गिरफ्तार, हथियार बरामद||अब स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग स्कूली बच्चों को नशीले पदार्थो के सेवन से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में करेगा जागरूक||लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित बाइक दुर्घटनाग्रस्त, दो युवक घायल, सांसद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों रिम्स रेफर||15 ऐसे महत्वपूर्ण कानून और कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को जरूर जानने चाहिए||लातेहार में तेज रफ्तार बोलेरो ने घर में सो रहे पांच लोगों को रौंदा, एक की मौत, चार रिम्स रेफर
Tuesday, June 18, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: जिला परिषद उपाध्यक्ष ने सीसीएल महाप्रबंधक से की केंद्रीय विद्यालय खोलने व अस्पताल बनाने की मांग

लातेहार : जिला परिषद उपाध्यक्ष अनीता देवी ने परियोजना पदाधिकारी एवं महाप्रबंधक, सेंट्रल कोल फील्ड लिमिटेड, तेतरियाखाड़ परियोजना, बालूमाथ से मुलाकात कर बालूमाथ की कई समस्याओं एवं आवश्यकताओं पर विस्तार से चर्चा की।

उपाध्यक्ष ने कहा कि यहां 30 वर्षों से कोलियरी संचालित हो रही है। लेकिन आज भी यहां के लोग अपने आप को उपेक्षित एवं ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। सीसीएल द्वारा करोड़ों टन कोयले का खनन एवं परिवहन किया जा रहा है। लेकिन बालूमाथ के विस्थापित प्रभावित एवं आदिवासी समुदाय ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। परियोजना में सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत किया गया कार्य संतोषजनक नहीं है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उन्होंने कहा कि बालूमाथ में आधुनिक सुविधाओं से युक्त अस्पताल और केंद्रीय विद्यालय की बहुत जरूरत है। इसमें अब तक किये गये प्रयासों और इसके निर्माण पर विस्तार से चर्चा की गयी।

महाप्रबंधक द्वारा कहा गया कि यदि आप जमीन उपलब्ध करा दें तो मैं केंद्रीय विद्यालय एवं अस्पताल उपलब्ध करा दूंगा। इस संबंध में उपाध्यक्ष ने जिले के उपायुक्त से मिलकर जमीन उपलब्ध कराने की बात कही।

चर्चा के अन्य बिंदुओं में तेतरियाखाड़ कोलियरी के आसपास के क्षेत्र में बढ़ते प्रदूषण और उससे होने वाले नुकसान पर चिंता व्यक्त की गयी। इसके लिए खदान क्षेत्र को हरे पर्दे से घेरने और आने वाले सभी लोडेड ट्रकों पर अनिवार्य रूप से तिरपाल डालकर ही सड़क पर उतारने का निर्देश दिया है। महाप्रबंधक ने कहा है कि इन सभी मामलों पर सकारात्मक पहल की जायेगी।

उपाध्यक्ष द्वारा बताया गया कि वे शीघ्र ही सीसीएल परियोजना के सीएमडी से मिलकर अन्य बातों की जानकारी देंगे तथा क्षेत्र में अस्पताल एवं विद्यालय के लिए प्रयास किया जायेगा।

Latehar Latest News Today