Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Saturday, June 22, 2024
पलामू प्रमंडलबालूमाथलातेहार

लातेहार: बालूमाथ में आयोजित दिव्यांग शिविर में भोजन को लेकर अव्यवस्था का आलम, भेड़-बकरियों की तरह खाना खाते नजर आये ग्रामीण व छात्र

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

लातेहार : बुधवार को बालूमाथ प्रखंड मुख्यालय स्थित बुनियादी विद्यालय परिसर में आयोजित दिव्यांग शिविर में भोजन को लेकर अव्यवस्था का आलम देखा गया। इस कार्यक्रम में जिस तरह से ग्रामीण व छात्र भेड़-बकरियों की तरह खाना खाते नजर आये वह आयोजनकर्ता की लापरवाही को उजागर करता है।

इस शिविर में मुख्य रूप से बालूमाथ शिक्षा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले बालूमाथ, बारियातू एवं हेरहंज प्रखंड क्षेत्र से सैकड़ों अभिभावक, छात्र एवं शिक्षक शामिल हुए। आयोजन समिति की ओर से उनके लिए भोजन की व्यवस्था की गयी थी। लेकिन उनके लिए न बैठने की व्यवस्था की गयी और न ही बैठकर खाने की। जिसके कारण अफरा-तफरी की स्थिति बनी रही।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

आयोजनकर्ता द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों से आये छात्र-छात्राओं एवं अभिभावकों को हल्की बारिश एवं फुहारों के बीच जमीन पर ही बैठाकर खाने के लिए भोजन दिया गया। ग्रामीण व छात्र खुले मैदान में ही आसमान के नीचे भेड़-बकरियों की तरह खाना खाते नजर आये। इस दौरान अव्यवस्था की काफी कमी दिखी और आयोजक इधर-उधर घूमते नजर आये।

इस संबंध में जब प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी सह प्रखंड कल्याण पदाधिकारी निर्मला लता से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इस कार्य में लगे कर्मियों की गलतियां उजागर हो चुकी है। अगली बार से ऐसी शिकायत नहीं मिलेगी और इस कार्य में लगे कर्मियों से स्पष्टीकरण मांगा जायेगा।