Breaking :
||हेमंत सरकार का निर्णय, सरकारी कार्यक्रमों में ‘जोहार’ शब्द से अभिवादन करना अनिवार्य||सरकार खतियान आधारित स्थानीयता बिल फिर राज्यपाल को भेजेगी : JMM||राज्य स्तरीय झांकी में पलामू किला को मिला पहला स्थान, राज्यपाल ने किया पुरस्कृत||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली

बेतला नेशनल पार्क में जंगली हाथी के बच्चे को देखने उमड़ी पर्यटकों की भीड़

अख्तर/बेतला

दुबाई से आये पर्यटक ने किया पूरे परिवार के साथ हाथी के बच्चे व बेतला का दीदार

लातेहार : बेतला नेशनल पार्क में हर दिन जंगली हाथी के बच्चे को देखने के लिए सैलानियों की भीड़ लगी रहती है। वही पर्यटक जो आज दुबई से आए थे, उन्होंने बेतला राष्ट्रीय उद्यान की पूरे परिवार सहित दीदार किया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

जंगली हाथी के बच्चे को देखकर प्रशंसा करते हुए पर्यटक ने कहा कि उन्होंने बेतला नेशनल पार्क के कई नाम सूना था, लेकिन आज बेतला पहुंचकर वास्तव में बहुत खुशी मासूस कर रहा हूं। साथ ही जंगली हाथी के बच्चे को देखने का भी मौका मिला। यह केवल अफ़सोस की बात है कि हम पार्क में जाने से वंचित हो गए हैं। आने वाले दिनों में निश्चित रूप से पार्क का भी दौरा करेंगे।

वही वनपाल उमेश दुबे जंगली हाथी के बच्चे की देखभाल के लिए वन रक्षक के साथ ट्रैकर गार्ड भी लगे हुए हैं। जो इलाज के साथ-साथ खिलाने-पिलाने में लगे हुए हैं। उन्हीं की देखरेख में हाथी के बच्चे का इलाज किया जा रहा है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

वनपाल उमेश दुबे ने कहा कि अभी सिर्फ दूध दिया जा रहा है, जब डॉक्टर खाना देने की सलाह देंगे, तभी अनाज खिलाया जाएगा, अभी डॉक्टर ने सिर्फ दूध देने की बात कही है, इसलिए अभी दूध ही पिलाया जा रहा है।