Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में बोलेरो ने बाइक में पीछे से मारी टक्कर, दो IRB जवान समेत चार घायल, दो रिम्स रेफर, सड़क जाम||पलामू में ट्रक ने झामुमो नेता के रिश्तेदार को रौंदा||झारखंड में बड़ा सड़क हादसा, तीन की मौत, सात घायल||झारखंड में लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 65.40 फीसदी वोटिंग, गिरिडीह और धनबाद में महिलाएं तो रांची और जमशेदपुर में पुरुषों ने मारी बाजी||बड़ी घटना को अंजाम देने आये अमन साहू गिरोह के चार शूटर चढ़े पुलिस के हत्थे||प्रेमी ने शादी का झांसा देकर किया यौन शोषण, धोखा बर्दाश्त नहीं कर पायी प्रेमिका, की जान देने की कोशिश, मामला दर्ज||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर 62.13 फीसदी वोटिंग, सबसे अधिक जमशेदपुर, सबसे कम रांची में मतदान||झारखंड में कल से दिखेगा चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ का असर, लातेहार, गढ़वा, पलामू व चतरा जिले में भी असर||लातेहार: दुकान में चोरी करने आये तीन चोर आग में झुलसे, एक की मौत, दो गंभीर||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला
Monday, May 27, 2024
पलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: कोर्ट ने पूर्व मंत्री चन्द्रशेखर दुबे को साक्ष्य के अभाव में किया बरी, एसपी से अभद्र व्यवहार करने का था आरोप

पलामू : जिला व्यवहार न्यायालय के एमपी-एमएलए कोर्ट के स्पेशल मजिस्ट्रेट सतीश कुमार मुंडा की अदालत ने पूर्व मंत्री चंद्रशेखर दुबे उर्फ ददई दुबे को साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया है। चंद्रशेखर दुबे के विरुद्ध गढ़वा थाना में सहायक अवर निरीक्षक गोपनीय प्रवाचक काशीनाथ तिवारी ने नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी थी।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

चन्द्रशेखर दुबे पर आरोप था कि नौ जुलाई 2015 को समय करीब 12.30 बजे दिन में पुलिस अधीक्षक के कार्यालय में घुसकर पुलिस अधीक्षक के साथ अभद्र व्यवहार कर उन्हें गाली गलौज कर सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाया था तथा धमकी दी थी। तिथि और समय पर उन्होंने गढ़वा पुलिस अधीक्षक कार्यालय में रखे कागजातों को फाड़ दिया था, जिसकी जब्ती सूची भी बनायी गयी थी। उपरोक्त केस में अभियोजन की ओर से आठ गवाहों की गवाही करायी गयी थी। लेकिन अभियोजन आरोप साबित करने में असफल रहा। ऐसे में अदालत ने साक्ष्य के अभाव में पूर्व मंत्री चंद्रशेखर दुबे उर्फ ददई दुबे को बरी कर दिया।