Breaking :
||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत
Monday, April 15, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: एक जुलाई से पर्यटकों के लिए बंद हो जायेगा बेतला नेशनल पार्क

लातेहार : वन्यजीवों का प्रजनन काल मानसून के आगमन के साथ शुरू होता है। इस दौरान सुरक्षा और संवर्धन को ध्यान में रखते हुए देशभर के राष्ट्रीय उद्यानों को बंद कर दिया जाता है। पलामू टाइगर रिजर्व के अंतर्गत आने वाले बेतला नेशनल पार्क को भी एक जुलाई से 30 सितंबर तक पर्यटकों के लिए बंद कर दिया जायेगा। एक अक्टूबर से पार्क को पर्यटकों के लिए फिर से खोल दिया जायेगा।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मानसून का मौसम वन्यजीवों का प्रजनन काल होता है। इस दौरान उन्हें शांति और सुरक्षा की जरूरत होती है। पार्कों में पर्यटकों की गतिविधियों से वन्यजीव परेशान हो जाते हैं। उनकी शान्ति भंग होती है। कभी-कभी वे हिंसक भी हो जाते हैं। इसे देखते हुए पार्क 3 महीने के लिए बंद कर दिया गया है।

बेतला नेशनल पार्क 56 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। यह झारखंड का एकमात्र टाइगर रिजर्व है। यह झारखंड के पर्यटकों के लिए एकमात्र राष्ट्रीय उद्यान है, जो बाघों को देखना चाहते हैं। हालांकि, पार्क में बाघों की मौजूदगी को लेकर विरोधाभास है। बाघों की आखिरी गिनती में यहां एक भी बाघ होने का प्रमाण नहीं मिला था।