Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, मायके वालों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार: मनिका में सड़क निर्माण स्थल पर उग्रवादियों का हमला, JCB मशीन में लगायी आग||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान

छिपादोहर के आदिम जनजाति परिवार के लाभुकों ने मुखिया व रोजगार सेवक पर पैसे मांगने का लगाया आरोप

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : जिले के उपायुक्त भोर सिंह यादव के निर्देश पर प्रखंड सह अंचल कार्यालय परिसर में प्रखंड विकास पदाधिकारी राकेश सहाय के द्वारा साप्ताहिक जनता दरबार का आयोजन किया गया। जनता दरबार के दौरान प्रखंड के विभिन्न क्षेत्रों से आए फरियादियों की प्रखंड विकास पदाधिकारी ने एक-एक करके उनकी समस्याओं को सूना।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

जनता दरबार में जिप सदस्य कन्हाई सिंह के साथ प्रखंड के छिपादोहर से आए आदिम जनजाति परिवार की बबीता कुमारी, प्रमिला देवी, सविता देवी और विनीता देवी ने प्रखंड विकास पदाधिकारी से अपने पंचायत के मुखिया और रोजगार सेवक पर बकरी शेड के पैसे की निकासी करने में पैसे की मांग करने के साथ-साथ मानसिक रूप से परेशान करने का आरोप लगाया।

लाभुकों ने आरोप लगाया कि रोजगार सेवक के द्वारा पूर्व भी पैसे लिए गए हैं और अब मास्टर रोल में साइन करने के नाम पर मुखिया के द्वारा और रोजगार सेवक के द्वारा परेशान किया जा रहा है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

शिकायत के बाद प्रखंड विकास पदाधिकारी ने तत्काल जांच का आदेश देते हुए लाभुकों के पैसे के भुगतान जल्द से जल्द हो इसका आश्वासन भी दिया है। उन्होंने कहा कि आदिम जाति परिवार के लोगों को इस तरह से परेशान करना किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

वहीं जनता दरबार के दौरान राशन, पेंशन से जुड़े एक दर्जन से अधिक मामलों का मौके पर ही निपटारा किया गया।