Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Friday, June 21, 2024
पलामू प्रमंडलबरवाडीहलातेहार

छिपादोहर के आदिम जनजाति परिवार के लाभुकों ने मुखिया व रोजगार सेवक पर पैसे मांगने का लगाया आरोप

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : जिले के उपायुक्त भोर सिंह यादव के निर्देश पर प्रखंड सह अंचल कार्यालय परिसर में प्रखंड विकास पदाधिकारी राकेश सहाय के द्वारा साप्ताहिक जनता दरबार का आयोजन किया गया। जनता दरबार के दौरान प्रखंड के विभिन्न क्षेत्रों से आए फरियादियों की प्रखंड विकास पदाधिकारी ने एक-एक करके उनकी समस्याओं को सूना।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

जनता दरबार में जिप सदस्य कन्हाई सिंह के साथ प्रखंड के छिपादोहर से आए आदिम जनजाति परिवार की बबीता कुमारी, प्रमिला देवी, सविता देवी और विनीता देवी ने प्रखंड विकास पदाधिकारी से अपने पंचायत के मुखिया और रोजगार सेवक पर बकरी शेड के पैसे की निकासी करने में पैसे की मांग करने के साथ-साथ मानसिक रूप से परेशान करने का आरोप लगाया।

लाभुकों ने आरोप लगाया कि रोजगार सेवक के द्वारा पूर्व भी पैसे लिए गए हैं और अब मास्टर रोल में साइन करने के नाम पर मुखिया के द्वारा और रोजगार सेवक के द्वारा परेशान किया जा रहा है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

शिकायत के बाद प्रखंड विकास पदाधिकारी ने तत्काल जांच का आदेश देते हुए लाभुकों के पैसे के भुगतान जल्द से जल्द हो इसका आश्वासन भी दिया है। उन्होंने कहा कि आदिम जाति परिवार के लोगों को इस तरह से परेशान करना किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

वहीं जनता दरबार के दौरान राशन, पेंशन से जुड़े एक दर्जन से अधिक मामलों का मौके पर ही निपटारा किया गया।