Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

बाबू भाई ने पलामू डीएमओ आनंद कुमार की शिकायत पीएचईडी मंत्री से की

पलामू : जिले के सतबरवा में अवैध रूप से बालू ले जाने के दौरान ट्रैक्टर से खड़ी फसल रौंदने से नाराज़ सतबरवा के रैयत वर्तमान मेदिनीनगर निवासी विनीत कुमार सिंह उर्फ बाबू भाई ने सुबे के पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के मंत्री मिथिलेश ठाकुर से डीएमओ की शिकायत की है। मंत्री ने उन्हें जांच कर कारवाई करने का आश्वासन दिया है।

उन्होंने बताया कि 4 सितंबर को औरंगा नदी लेदवाखांड से अवैध रूप से बालू लेकर जा रहे ट्रैक्टर द्वारा मेरे खेत में लगी एक बीघा में खड़ी तिल के फसल को रौद डाला। 6 सितंबर को घटनास्थल पर जाकर देखा तो औरंगा नदी से आधा दर्जन भर ट्रैक्टर बालू का उठाव कर रहे थे।

इस दौरान डीएमओ से शिकायत के बाद उन्होंने अपना मेल आईडी दिया और कहा कि मेरे मेल आईडी पर शिकायत दर्ज कराए तुरंत कार्रवाई की जाएगी। उस अवधि में मैंने बालू लदे ट्रैक्टर समेत बालू का अवैध भंडारण करके रखें जगह तथा नदी से बालू उठाकर ले जाते ट्रैक्टर का फोटो डीएमओ साहब के मेल आईडी पर भेजा था।परंतु अभी तक कार्रवाई नहीं हुई। मजबूरी वश मंत्री महोदय के पास शिकायत करनी पड़ी। उन्होंने बताया इस दौरान सतबरवा पुलिस रात्रि में मदद करने के लिए लेदवाखांड व अन्य घाटों पर पहुंची थी।

पलामू डीएमओ आनंद कुमार ने बताया कि चार-पांच दिन पहले मेरे मेल आईडी पर औरंगा नदी लेदवाखांड बालू घाट से सम्बंधित शिकायत मिली थी। भौतिक सत्यापन के बाद वहां कुछ भी नहीं मिला। उन्होंने आगे कहा कि सतबरवा प्रखंड में एक भी बालू घाट सरकार के यहां बंदोबस्त नहीं है। पूर्व में दो बालू घाटों को बंदोबस्त किया गया था। लेकिन वन विभाग की तकनीकी अड़चन के चलते बालू घाट रद्द हो गए।