Breaking :
||कैबिनेट की बैठक में 40 प्रस्तावों को मिली मंजूरी, राज्य कर्मियों की पेंशन योजना में संशोधन, अब पांच हजार रुपये मिलेगा पोशाक भत्ता||पलामू: नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को 20 साल सश्रम कारावास की सजा||चतरा के पांच अफीम तस्कर हजारीबाग में गिरफ्तार||झारखंड में 4 IPS अफसरों का तबादला, लातेहार SP के पद पर बने रहेंगे अंजनी अंजन, 27 IPS अधिकारियों का मूवमेंट ऑडर जारी||बालूमाथ के चोरझरिया घाटी में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार की मौत||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार युवक की मौत समेत बालूमाथ की चार खबरें||झारखंड: आग लगने की सूचना पर ट्रेन से कूदे यात्री, झाझा-आसनसोल यात्रियों के ऊपर से गुजरी, 12 की मौत||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पहुंचीं रांची, सेंट्रल यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में हुईं शामिल, कहा- दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर भारत||झारखंड में बिजली हुई महंगी, नयी दरें एक मार्च से होंगी लागू||झारखंड में बड़े पैमाने पर BDO की ट्रांसफर-पोस्टिंग, यहां देखें पूरी लिस्ट
Friday, March 1, 2024
पलामू प्रमंडलबालूमाथलातेहार

बाबा साहब ने संविधान देकर देश के नागरिकों को समानता का अधिकार दिया

लातेहार : रविवार को भारतीय संविधान दिवस के अवसर पर अनुसूचित जाति आवासीय प्रावि बालूमाथ में प्रधानाध्यापक दशरथ पासवान की अध्यक्षता में संविधान दिवस मनाया गया। जिसमें बतौर मुख्य अतिथि अमित कुमार, (एससी मोर्चा भाजपा जिला उपाध्यक्ष), शिक्षक बंधु कृष्ण मोहन दास, धर्मेंद्र यादव, मनीष कुमार और रसोइया राजू नायक उपस्थित रहे।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मौके पर अतिथियों ने कहा कि डॉ भीमराव अंबेडकर हमारे भारत का संविधान निर्माता हैं। कोई भी देश बिना संविधान के नहीं चल सकता है। हमारा देश का संविधान बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर ने लिखा है। संविधान तैयार करने में 2 वर्ष 11 माह 18 दिन लगे थे। 26 नवंबर 1949 को पूरा हुआ था और इसे अपनाया गया। इसके बाद 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू हुआ। साल 2015 में भारत की केंद्र सरकार ने 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में मनाने का फैसला लिया था।

विद्यालय के प्रधानाध्यापक दसरथ पासवान के नेतृत्व में संविधान की प्रस्तावना का वाचन किया गया। छात्रों के समक्ष संविधान की गरिमा से परिचित कराते हुए भारतीय संविधान निर्माता बाबा शाहब भीमराव अम्बेडकर की जीवनी पर भी प्रकाश डालकर जीवन निर्माण हेतु छात्रों को आगे बढ़ने की प्रेरणा दी गयी।

Balumath Latehar Latest News