Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: अवैध कोयला खदान में चला प्रशासन का बुलडोजर, हड़कंप

लातेहार : उपायुक्त भोर सिंह यादव के निर्देश पर सदर थाना क्षेत्र के तुबेद गांव के पास अवैध कोयला खदान को एसडीएम शेखर कुमार व डीएमओ आनंद कुमार की देखरेख में तोड़ा गया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

प्राप्त जानकारी के अनुसार उपायुक्त को गुप्त सूचना मिली थी कि गांव तुबेड़ के समीप अवैध रूप से कोयले का खनन किया जा रहा है। उपायुक्त के निर्देश पर लातेहार एसडीएम शेखर कुमार व डीएमओ आनंद कुमार पोकलेन मशीन लेकर उक्त स्थान पर पहुंचे और अवैध उत्खनन स्थल को तोड़कर मिट्टी से भर दिया। इसके बाद प्रशासन अवैध खनन में लिप्त कोयला माफियाओं की पहचान शुरू कर दी है।

उल्लेखनीय है कि तुबेद में कोयला खदान खोलने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है, जिसका फायदा उठाकर कोयला माफिया बड़े पैमाने पर कोलियरी क्षेत्र के आसपास से अवैध कोयले की तस्करी भी कर रहे हैं। ग्रामीणों के अनुसार कोयले के अवैध खनन में स्थानीय तस्करों के साथ बाहरी तस्कर भी शामिल हैं।

प्रशासन ने अवैध कोयला खदान को ध्वस्त करते हुए कहा कि जिले में खनिज संपदा के अवैध खनन, परिवहन व भंडारण को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा साथ ही इसमें शामिल माफियाओं को बख्शा नहीं जायेगा। जिला प्रशासन द्वारा अवैध कोयला कोलियरी तोड़े जाने के बाद से कोयला माफियाओं में हड़कंप मच गया है।