Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
पलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: ABVP के कार्यकर्ताओं ने जीएलए कॉलेज के प्राचार्य का किया घेराव, किया हंगामा

पलामू : अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) की गणेश लाल अग्रवाल महाविद्यालय इकाई ने गुरुवार को विभिन्न शैक्षणिक विषयों को लेकर के कॉलेज के प्राचार्य का घेराव किया। परिषद कार्यकर्ताओं ने महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं के साथ मिलकर प्राचार्य कक्ष में जमकर बवाल काटा। अध्यक्षता इकाई के अध्यक्ष विपिन यादव ने की।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं की मांग थी कि स्नातकोत्तर में सभी विद्यार्थियों का नामांकन सुनिश्चित किया जाये। क्योंकि, विश्वविद्यालय का सत्र बहुत पीछे हैं और जिनका नामांकन नीलांबर पीतांबर विश्वविद्यालय में नहीं होगा, अभी किसी अन्य जगह में उनका नामांकन नहीं हो पाएगा। ऐसी परिस्थिति में विद्यार्थी कहां जायेंगे।

अभाविप के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य विनीत पांडे ने कहा कि स्नातकोत्तर में केवल जीएलए कॉलेज, महिला महाविद्यालय और कुछ नामांकन जनता शिवरात्रि महाविद्यालय में ही होता है। ऐसी परिस्थिति में विद्यार्थियों की संख्या बहुत अधिक हो जाती है और सीट लिमिटेड होने के कारण कई मेधावी विद्यार्थियों का भी नामांकन सुनिश्चित नहीं हो पाता है। ऐसे परिस्थिति में यह विद्यार्थी इस सत्र में कहीं भी नामांकन नहीं ले पायेंगे।

प्रदेश सोशल मीडिया संयोजक रोहित देव ने कहा कि नामांकन के मामले में महाविद्यालय के प्राचार्य का रवैया अत्यंत ही उदासीन है। ऐसी परिस्थिति को देखते हुए विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने उन्हें 8 दिनों का अल्टीमेटम दिया है कि वे सभी विद्यार्थियों का नामांकन सुनिश्चित करें अन्यथा विद्यार्थी परिषद छात्रहित में इन विषयों को लेकर आंदोलन हेतु बाध्य होगी।

जिला संयोजक अभय वर्मा ने कहा कि प्राचार्य के उदासीन रवैए के कारण महाविद्यालय की स्थिति अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है। ना ही कोई प्रोफेसर अपने विभाग में समय पर पहुंचते हैं और ना ही कोई कर्मचारी। ऐसी स्थिति में आम छात्र-छात्राओं को लगातार परेशानी का सामना करना पड़ता है, जो दुखद है।